Home » राजनीति » Note ban: Sharad pawar told this situation just like a Economic Emergency
 

नोटबंदी पर मोदी के मुरीद पवार का यू टर्न- 'स्थिति आर्थिक आपातकाल जैसी'

कैच ब्यूरो | Updated on: 21 November 2016, 10:20 IST
(पीटीआई)

देश में प्रधानमंत्री नरेंद्र मोदी के द्वारा नोटबंदी लागू किये जाने के बाद उनके साथ मंच साझा करने वाले और नोटबंदी के फैसले की सराहना करने वाले राष्ट्रीय क्रांति पार्टी के प्रमुख शरद पवार अब मोदी सरकार के फैसले को कोस रहे हैं.

नोटबंदी के मुद्दे पर पवार ने कहा, ''अगर इस तरह की स्थिति जारी रही, तो आम लोगों का जीवित रहना मुश्किल हो जाएगा.'' उन्होंने कहा कि मोदी के फैसले के चलते देश आर्थिक आपातकाल की गिरफ्त में है.

अगले वर्ष की शुरुआत में होने वाले बीएमसी चुनाव के मद्देनजर घाटकोपर में एक रैली में पवार ने आरोप लगाया कि नोटबंदी के बहाने मोदी सरकार लोगों को परेशान कर रही है. लेकिन लोग इसका जवाब उनकी पार्टी के खिलाफ मतदान करके देंगे.

राकांपा नेता ने कहा, ''सरकार को मुंबई में लोकल ट्रेनों में सफर करने वाले लाखों लोगों की चिंता नहीं है. 98,000 करोड़ रुपये में मुंबई, दिल्ली, कोलकाता और चेन्नई की ट्रेनों को संचालित किया जा सकता है, लेकिन मोदी को अहमदाबाद जाने की जल्दी है.''

इसके साथ ही पवार ने नोटबंदी और 98,000 करोड़ रुपये लागत वाली बुलेट ट्रेन परियोजना के मुद्दे पर भी रविवार को एनडीए सरकार पर निशाना साधा.

इससे पहले शरद पवार ने महाराष्ट्र में एक कार्यक्रम के दौरान पीएम मोदी के साथ मंच साझा किया था. पवार ने कहा था कि पीएम मोदी देश के लिए समर्पित हैं. 

पवार ने नोटबंदी के ठीक बाद 9 नवंबर को ट्वीट किया, "पांच सौ और एक हजार के पुराने नोट बंद करने से देश में काले धन को समाप्त करने में मदद मिलेगी. साथ ही आतंकवादियों का वित्त पोषण बंद होगा."

First published: 21 November 2016, 10:20 IST
 
पिछली कहानी
अगली कहानी