Home » राजनीति » Our target is to make BJP Invincible: Amit Shah
 

हमारा लक्ष्य भाजपा को अपराजेय बनाना है: अमित शाह

कैच ब्यूरो | Updated on: 30 July 2017, 10:02 IST

उत्तर प्रदेश के तीन दिनों के प्रवास पर आए भारतीय जनता पार्टी (भाजपा) के अध्यक्ष अमित शाह ने शनिवार को कहा कि सरकार उत्तर प्रदेश के 22 करोड़ लोगों की तरक्की और खुशहाली के लिए दिन रात काम कर रही है. उन्होंने कहा कि सबका लक्ष्य ऐसी भाजपा बनाने का है जो अपराजेय हो. संगठन की बैठक में शाह ने कहा, "पिछले पंद्रह सालों की बदहाली से परेशान उत्तर प्रदेश की महान जनता ने भाजपा को विधानसभा चुनावों में जबरदस्त बहुमत दिया और अब उप्र सरकार योगी आदित्यनाथ की अगुवाई में हर रोज जनहित के फैसले ले रही है. देश के कई राज्यों में सरकार बनाने के बाद से भाजपा कभी नहीं हारी और देश में भी पार्टी की ताकत लगातार बढ़ रही है. ऐसे में हम सबका लक्ष्य ऐसी भाजपा बनाने का है, जो अपराजेय हो."

शाह ने कहा, "पूरे देश के दौरे पर हूं और इसी सिलसिले में तीन दिन के लिए उप्र भी आया हूं. उप्र सरकार पहले ही दिन से जनता के काम करने में जुटी हुई है. एक बिगड़ी हुई व्यवस्था मिली है, लिहाजा प्राथमिकता के आधार पर तेजी से काम किए जा रहे हैं. महज तीन महीनों के भीतर किसानों की कर्ज माफी से लेकर रिकार्ड गेहूं की खरीद जैसे वायदे पूरे किए गए हैं. पांच सालों के भीतर प्रदेश सरकार संकल्प पत्र में किए गए एक एक वायदों को पूरा करेगी."

उन्होंने कहा, "प्रदेश में जनता की समस्याओं का समाधान करने के लिए सरकार बनी है और सरकार के काम उप्र की आवाम के दरवाजे-दरवाजे तक पहुंचेंगे. योगी की सरकार ने भ्रष्टाचार पर भी करारी चोट की है. ठेके पट्टे से लेकर विभागों तक में व्याप्त भ्रष्टाचार पर सरकार ने कड़े कदम उठाए हैं."

शाह ने कहा, "हमारी प्राथमिकता है कानून का राज स्थापित करना और ये हम कर के रहेंगे. हमारा बड़ा दायित्व उन 22 करोड़ लोगों की सेवा करने का है, जिनकी मदद से हम उप्र में व्यवस्था परिवर्तन कर पाए हैं."

भाजपा के राष्ट्रीय अध्यक्ष ने कहा, "कार्यकर्ता हमारी ताकत हैं और कार्यकर्ताओं की मेहनत से ही देश और प्रदेश में ये बड़ी विजय हासिल हुई है. सरकार और संगठन के बेहतर तालमेल के साथ ही हम केंद्र और राज्य सरकार की नीतियों और कामों को जन-जन तक पहुंचाएंगे. पूर्व की सरकारों में नौकरशाही का राजनीतिक इस्तेमाल किया गया."

शाह ने कहा, "सरकारें बदलते ही अफसरों के चेहरे बदल जाते थे. हम नौकरशाही के राजनीतिक इस्तेमाल के खिलाफ हैं और हमारी सरकार ने ये खराब परंपरा तोड़ी है. हम अच्छा काम करने वाले अफसरों को मौका दे रहे हैं. इससे प्रदेश का माहौल तेजी से बदला है."

 

First published: 30 July 2017, 10:02 IST
 
अगली कहानी