Home » राजनीति » Petrol diesel price hike creates difficulties for Modi government in Loksabha Election 2019
 

पेट्रोल-डीजल के बढ़ते दामों का खामियाजा मोदी सरकार 2019 लोकसभा चुनाव में भुगतेगी !

कैच ब्यूरो | Updated on: 4 September 2018, 16:06 IST

Petrol Diesel price Modi Government: पेट्रोल-डीजल की बढ़ रही कीमतें मोदी सरकार के लिए मुसीबत का पहाड़ बनती जा रही हैं. विपक्षी तो मोदी सरकार पर हमला बोल ही रहे हैं अब अपने भी पेट्रोल-डीजल की बढ़ती कीमतों को लेकर सरकार पर सवाल खड़े करने लगे हैं. बिहार में भाजपा के साथ मिलकर सरकार चला रही नीतीश कुमार की पार्टी जदयू भी अब मोदी सरकार के खिलाफ मुखर हो रही है.

पेट्रोल-डीजल की कीमत को लेकर जदयू ने मोदी सरकार को चेताया है कि साल 2019 में होने वाले लोकसभा चुनाव के लिए यह महंगा पड़ सकता है. जदयू के वरिष्ठ नेता केसी त्यागी ने जनता को राहत देने की अपील की है. उन्होंने कहा है कि सरकार जल्द से जल्द इससे निपटने का कोई इंतजाम करे नहीं तो इसका खामियाजा भुगतना पड़ सकता है.

केसी त्यागी ने कहा है कि मोदी सरकार ने जो भी तर्क दिए हैं वह ईरान, वेनेजुएला में दिक्कतें और अमेरिका-चीन के बीच चल रही ट्रेड वॉर को दर्शाते हैं. हम ये नहीं कह रहे हैं कि सरकार योजनाओं को बंद कर दे. लेकिन कुछ न कुछ तो करना होगा.

केसी त्यागी ने कहा कि सरकार पेट्रोल-डीजल से 10 लाख करोड़ तक का टैक्स वसूलती है. उसमें कटौती की जा सकती है. पेट्रोल-डीजल का दाम चुनावी मुद्दा बने इससे पहले ही इसका समाधान निकल जाना चाहिए. वहीं जदयू के एक और नेता अजय आलोक ने भी सरकार पर तंज कसा है. उन्होंने ट्विटर पर लिखा कि पेट्रोल-डीजल के बढ़ते दाम अब चुभने लगे हैं, रुपया गिर रहा है.

बता दें कि पेट्रोल-डीजल के दाम में इतिहास की सबसे बड़ी बढ़ोतरी की गयी है. दिल्ली में पेट्रोल के दाम 80 पहुंचने से कुछ दूरी में हैं. वहीं मुंबई में पेट्रोल के दाम 86.50 रुपए से अधिक हो चुके हैं.

First published: 4 September 2018, 16:06 IST
 
पिछली कहानी
अगली कहानी