Home » राजनीति » pm modi speaks about gst before monsoon parliament session begins on monday.
 

मोदी ने GST को बताया 'ग्रोइंग स्ट्रॉन्गर टुगेदर'

कैच ब्यूरो | Updated on: 17 July 2017, 11:05 IST
gst

संसद का मानसून सत्र शुरू हो गया है. इसके साथ ही राष्ट्रपति पद के चुनाव के लिए वोटिंग भी हो रही है. मोदी सरकार को घेरेने के लिए कांग्रेस समेत समूचा विपक्ष पूरी रणनीति के साथ तैयार है. विपक्ष किसान, कश्मीर, चीन, गोरक्षक और जीएसटी समेत कई मुद्दों पर सरकार को घेरेगा.

पीएम नरेंद्र मोदी ने सत्र आरंभ होने से पहले मीडिया को संबोधित करते हुए कहा, "जीएसटी की वजह से संसद में नई उमंग है. जीएसटी एक साथ काम करने का दूसरा नाम है. जीएसटी का मतलब गोइंग स्ट्रॉन्गर टुगेदर है. एक साथ मजबूती से बढ़ना जीएसटी है. सारे दल मिलकर काम करते हैं तो ये राष्ट्रहित में होता है."

मोदी सररकार के सामने इस सत्र में इंडियन इंस्टीट्यूट ऑफ़ इनफॉरमेशन टेक्नोलॉजी अमेंडमेंट बिल, इम्मूवेबल प्रॉपर्टी अमेंडमेंट बिल, पब्लिक-प्राइवेट पार्टनरशिप बिल, मोटर व्हिकल अमेंडमेंट बिल जैसे कई बिल पास कराने की चुनौती होगी.

17 जुलाई से 11 अगस्त तक चलने वाले इस सत्र में 19 दिन काम होगा और इस दौरान सरकार 16 नए बिल लाने की योजना बना रही है. इसके अलावा लोकसभा में आठ और राज्यसभा में 10 पुराने बिल लंबित पड़े हैं. यही नहीं सत्र के पहले ही दिन राष्ट्रपति पद के चुनाव के लिए मतदान होना है, जबकि उपराष्ट्रपति पद का चुनाव भी मौजूदा सत्र के दौरान 5 अगस्त को होगा.

गौरतलब है कि मानसून सत्र से पहले रविवार को सर्वदलीय बैठक में प्रधानमंत्री नरेंद्र मोदी ने गोरक्षा के नाम पर गुंडागर्दी को लेकर कड़ा रुख अपनाया है. सभी पार्टियों के नेताओं के साथ बैठक में प्रधानमंत्री ने कहा कि गोरक्षा के नाम पर असामाजिक लोग हिंसा कर रहे हैं. इन सभी के खिलाफ राज्य सरकारें कड़ी कार्रवाई करें.

First published: 17 July 2017, 11:05 IST
 
पिछली कहानी
अगली कहानी