Home » राजनीति » PM Modi Varanasi ranked 33th on the ease of living index survey, Delhi is out of 50
 

PM मोदी का बनारस रहने लायक बेहतरीन शहरों में पिछड़ा, दिल्ली टॉप 50 से भी बाहर

कैच ब्यूरो | Updated on: 14 August 2018, 11:03 IST

पीएम मोदी के संसदीय क्षेत्र बनारस को केंद्रीय शहरी मंत्रालय की ओर से जारी की गई ‘ईज ऑफ लिविंग’ इंडेक्स की सूची में 33वां स्थान मिला है. वहीं देश की राजधानी दिल्ली टॉप 50 में भी जगह नहीं बना पाया है. सूची में देशभर के कुल 111 शहरों को शामिल किया गया जिसमें पुणे पहले स्थान पर है.

इस सूची में दिल्ली 65वें और झांसी 34वें स्थान पर रखा गया है तो प्रधानमंत्री नरेंद्र मोदी के संसदीय क्षेत्र वाराणसी को स्वच्छ सर्वेक्षण सूची में 33 वीं जगह दी गई है और उत्तर प्रदेश में शीर्ष पर रखा गया है. वहीं यूपी से झांसी 34वें नंबर के साथ दूसरे स्थान पर आता है. 111 शहरों की सूची में उत्तर प्रदेश के 14 शहरों के नाम हैं.

बता दें कि केंद्रीय आवास और शहरी मामलों के मंत्री हरदीप सिंह पुरी ने सोमवार (13 अगस्त) को यह सूची जारी की है. यह सर्वे चार आधार पर किया गया. इसमें गवर्नेंस, सामाजिक ढांचा, आर्थिक स्थिति और फिजिकल इंफ्रास्ट्रक्चर जैसी बातें शामिल है. सूची में अव्वल महाराष्ट्र के शहर पुणे में शुद्ध हवा, पानी, सुरक्षा, संरक्षा, रोजी रोजगार, आवास, परिवहन, शिक्षा, स्वास्थ्य, स्वच्छता और मजबूत बुनियादी सुविधाएं उपलब्ध हैं.

पढ़ें- दिल्ली: स्वतंत्रता दिवस पर राजधानी में हो सकता है बड़ा हमला, जैश के 4 आतंकियों ने की घुसपैठ

इस सूची में महाराष्ट्र के ही तीन और शहरों नवी मुंबई, ग्रेटर मुंबई और ठाणे ने टॉप टेन में जगह बनाई है. जबकि टॉप टेन में मध्य प्रदेश के इंदौर और भोपाल को भी जगह मिली है. सूची में तिरुपति चौथा, चंडीगढ़ पांचवां, ठाणे छठा, रायपुर सातवां, इंदौर आठवां, विजयवाड़ा नौवां और भोपाल दसवें स्थान पर रहा. कोलकाता ने सर्वे में भाग नहीं लिया.

पढ़ें- Google करेगा PM मोदी के भाषण का लाइव प्रसारण, दूरदर्शन ने भी की है ये खास तैयारी

मंत्रालय के अनुसार 78 संकेतकों में 100 अंकों के पैमाने पर शहरों का मूल्यांकन किया गया है - संस्थागत और सामाजिक स्तंभों में 25 अंक प्रत्येक, आर्थिक स्तंभ के लिए 5 अंक दिए गए हैं और शारीरिक स्वास्थ्य स्तंभ के लिए 45 अंक दिए गए हैं.

 

First published: 14 August 2018, 11:03 IST
 
पिछली कहानी
अगली कहानी