Home » राजनीति » pm narendra modi addresses public rally in maghar, Top 10 things his speech sant kabir nagar district
 

कबीर को याद करके PM मोदी ने विपक्षी एकता पर साधा निशाना, भाषण की 10 ज़रूरी बातें

कैच ब्यूरो | Updated on: 28 June 2018, 13:45 IST
(ANI)

प्रधानमंत्री नरेंद्र मोदी गुरुवार को उत्तर प्रदेश में संत कबीर की नगरी संत कबीर नगर पहुंचे. जहां उन्होंने संत कबीर के 620वां प्राकट्य दिवस के मौके पर ‘संत कबीर अकादमी‘ की आधारशिला रखी. इस दौरान उनके साथ यूपी के सीएम योगी आदित्यनाथ भी मौजूद रहे. इसके बाद पीएम मोदी ने यहां पर एक जनसभा को संबोधित किया. पीएम मोदी ने अपने भाषण के जरिए सपा और बसपा पर जमकर निशाना साधा.

आपको बता दें कि आज कबीर का 620वां प्राकट्य दिवस है. PM मोदी ने यहां कबीर अकादमी के मॉडल का भी दौरा किया. प्रधानमंत्री ने यहां पर ‘संत कबीर अकादमी‘ की आधारशिला रखी. प्रधानमंत्री के साथ यूपी के मुख्यमंत्री योगी आदित्यनाथ भी मौजूद रहे. इसके बाद पीएम मोदी ने यहां जनसभा को संबोधित किया. इस दौरान उन्होंने कबीर की महिमा का बखान करते हुए कांग्रेस-सपा बसपा और कांग्रेस पर तीखे हमले भी किए. पीएम मोदी के इस दौरे को साल 2019 में होने वाले लोकसभा चुनाव के प्रचार की शुरुआत के रूप में देखा जा रहा है.

पीएम मोदी के भाषण की 10 प्रमुख बातें

1. पीएम मोदी ने कहा कि संत कबीर विचार बनकर आए और व्यवहार बनकर अमर हो गए. संत कबीर भीतर से कोमल और बाहर से कठोर थे. वे जन्म से नहीं अपने कर्म से वंदनीय हो गए. आज मुझे इस पावन धरती पर आने का सौभाग्य मिला, मन की एक विशेष अनुभूति पूरी हुई.

2. संपूर्ण मानवता के लिए कबीर दास उम्दा संपत्ति छोड़ गए . समाज को सदियों से दिशा दे रहे मार्गदर्शक, समभाव और समरसता के प्रतिबिम्ब महात्मा कबीर को उनकी ही निर्वाण भूमि से मैं उन्हें कोटि-कोटि नमन करता हूं.

3. पीएम मोदी ने कहा कि 14-15 वर्ष पहले जब पूर्व राष्ट्रपति अब्दुल कलाम जी यहां आए थे, तब उन्होंने इस जगह के लिए एक सपना देखा था. उनके सपने को साकार करने के लिए मगहर को अंतरराष्ट्रीय मानचित्र में सद्भाव-समरसता के मुख्य केंद्र के तौर पर विकसित करने का काम अब किया जा रहा है.

4. पीएम मोदी ने सपा बसपा पर निशाना साधते हुए कहा कि कुछ दल बस कलह और राजनीति चाहते हैं, ये दल समाजवाद और बहुजन वाद के नाम पर ढोंग कर रहे हैं, ये वही लोग हैं जिन्होंने अपने लिए करोड़ों के बंगले बनवाए हैं, ऐसे लोगों से यूपी के लोगों को सावधान रहने की जरूरत है. समाजवाद और बहुजन की बात करने वालों का सत्ता के प्रति लालच आप देख रहे हैं.

5. पीएम मोदी ने कहा कि देश में मुस्लिम बहनें तीन तलाक से मुक्ति की मांग कर रही हैं, लेकिन तीन तलाक के रास्ते में रोड़े अटकाए जा रहे है.

6. आज देश में दोगुनी गति से काम हो रहा है, सरकार सबका साथ सबका विकास की भावना से काम कर रही है. जबकि पहले पूर्वी उत्तर प्रदेश विकास को तरस गया था. आजादी के इतने वर्षों तक देश के कुछ ही हिस्से में विकास की रोशनी पहुंच सकी थी. हमारी सरकार का प्रयास है कि भारत भूमि की एक-एक इंच की जमीन को विकास की धारा के साथ जोड़ा जाए.

7. पीएम मोदी ने कहा कि ये हमारे देश की महान धरती का तप है. उसकी पुण्यता है कि समय के साथ समाज में आने वाली आंतरिक बुराइयों को समाप्त करने के लिए हमको समय-समय पर ऋषियों, मुनियों, संतों का मार्गदर्शन मिला. सैकड़ों वर्षों की गुलामी के कालखंड में अगर देश की आत्मा बची रही, तो वो ऐसे संतों की वजह से ही हुआ.

8. आज कुछ लोग महापुरुषों के नाम पर राजनीति कर रहे हैं. ऐसे लोग जमीन से कट चुके हैं.

9.पीएम मोदी ने कहा कि संत कबीर धूल से उठे थे लेकिन माथे का चंदन बन गए. उन्होंने कहा था कि ना कोहू से दोस्ती और ना काहू से बैर.

10.पीएम मोदी ने कहा कि 2 दिन पहले देश में आपातकाल को 43 साल हुए हैं. सत्ता का लालच ऐसा है कि आपातकाल लगाने वाले और उस समय आपातकाल का विरोध करने वाले एक साथ आ गए हैं. इनको समाज के हित से कोई लेना देना नहीं है, ये सिर्फ अपने और अपने परिवार का हित देखते हैं.

ये भी पढ़ें-  'मगहर' से चुनावी अभियान की शुरुआत कर बुआ-बबुआ महागठबंधन को पटखनी दे पाएंगे PM मोदी?

First published: 28 June 2018, 13:45 IST
 
अगली कहानी