Home » राजनीति » Pranab Mukherjee farewell: Lok Sabha speaker says generations of MP's admired by President's lessons
 

'गुरु प्रणब आपसे सांसदों की पीढ़ियों ने सबक सीखा है'

कैच ब्यूरो | Updated on: 24 July 2017, 10:53 IST
ट्विटर

देश के 13वें राष्ट्रपति प्रणब मुखर्जी के कार्यकाल का आज आखिरी दिन है. उनको विदाई देने के लिए संसद के सेंट्रल हॉल में समारोह आयोजित किया गया.

इस दौरान लोकसभा अध्यक्ष सुमित्रा महाजन ने कहा कि सेवामुक्त हो रहे राष्ट्रपति प्रणब मुखर्जी गुरु हैं, जिनसे सांसदों की कई पीढ़ियों ने सबक सीखा है.

विदाई समारोह में सांसदों की सभा को संबोधित करते हुए स्पीकर ने कहा, "आप एक गुरु हैं, जिससे सांसदों की पीढ़ियों ने संसदीय राजनीति की संचालन गतिशीलता का सबक सीखा है."

उन्होंने इस दौरान कहा, "आप संसदीय नियमों और प्रक्रियाओं के अपने दोष रहित ज्ञान और घटनाओं व पूर्वजों की अनुकरणीय स्मृति के लिए सम्माननीय हैं."

महाजन ने कहा कि मुखर्जी की पश्चिम बंगाल के एक गांव से राष्ट्रपति भवन तक की यात्रा हमारे देश के समकालीन इतिहास से जुड़ी है और यह सभी के लिए प्रेरणादायक है.

अपने पांच दशकों के लंबे राजनीतिक जीवन में प्रणब मुखर्जी चार बार राज्यसभा के सदस्य और दो बार लोकसभा के लिए चुने गए.

संसद के सेंट्रल हॉल में सांसदों को संबोधित करते हुए राष्ट्रपति प्रणब मुखर्जी/ ट्विटर

महाजन ने मुखर्जी के लिए कहा, "एक राजनेता, सांसद, प्रशासक, लेखक और दूरदर्शी विचारक के रूप में आपकी उपलब्धि आपके बहुआयामी व्यक्तित्व का प्रमाण है."

बताते चलें कि 25 जुलाई 2017 से देश के 14वें राष्ट्रपति रामनाथ कोविंद का कार्यकाल शुरू हो रहा है. उन्होंने राष्ट्रपति चुनाव में विपक्ष की उम्मीदवार मीरा कुमार को मात दी. कोविंद को 65.6 फीसदी, जबकि मीरा कुमार को 34.4 फीसदी मत हासिल हुए.

हालांकि रामनाथ कोविंद प्रणब मुखर्जी का रिकॉर्ड नहीं तोड़ सके, जिन्होंने 13वें राष्ट्रपति के चुनाव में 69 फीसदी मत हासिल करते हुए एनडीए उम्मीदवार पीए संगमा को शिकस्त दी थी.

First published: 24 July 2017, 10:53 IST
 
पिछली कहानी
अगली कहानी