Home » राजनीति » Prashant Kishor wants to campaign for PM Narendra Modi in 2019 Loksabha Election
 

PM मोदी को 2019 लोकसभा चुनाव जिताने के लिए BJP में वापस आना चाहते हैं प्रशांत किशोर

कैच ब्यूरो | Updated on: 15 July 2018, 11:39 IST

नरेंद्र मोदी को प्रधानमंत्री बनाने में साल 2014 के लोकसभा चुनाव में एक शख्स की बड़ी भूमिका थी. तब उस शख्स को राजनीति का चाणक्य कहा गया था. उस शख्स का नाम था प्रशांत किशोर. हालांकि साल 2015 में प्रशांत किशोर ने बीजेपी छोड़ दी थी और बिहार चुनाव के लिए उन्होंने नीतीश कुमार और महागठबंधन के लिए चुनावी रणनीति बनाई थी.

लेकिन अब जबकि साल 2019 के लोकसभा चुनाव होने में एक साल से भी कम का समय बचा है तो प्रशांत किशोर एक बार फिर बीजेपी में वापस आकर पीएम मोदी के लिए चुनावी रणनीति बनाना चाहते हैं. खबर है कि पीएम मोदी भी इसके लिए राजी हैं. पीएम मोदी को प्रशांत कुमार के टैलेंट पर पूरा भरोसा है. 

पढ़ें- पीएम मोदी ने रात में उठकर किया वाराणसी भ्रमण, सवा घंटे तक देखते रहे भव्य काशी

लेकिन बीजेपी अध्यक्ष अमित शाह प्रशांत किशोर को लेकर उतने सहज नहीं हैं. जब प्रशांत किशोर बीजेपी छोड़कर गए थे तब अमित शाह उनके इस फैसले से नाखुश थे. अब अमित शाह प्रशांत किशोर को मुख्य प्रचार अभियान में शामिल नहीं करना चाहते. हालांकि अमित शाह ने सुझाव दिया है कि प्रशांत किशोर एक अलग प्रोजेक्ट हाथ में ले सकते हैं. अमित शाह किशोर को बीजेपी की दलित हितैषी छवि को जनता में उभारने के काम में लगाना चाहते हैं. 

वहीं प्रशांत किशोर अमित शाह के इस ऑफर पर अभी विचार कर रहे हैं. इसके उलट पीएम मोदी पुरानी बातें भूलकर एक बार फिर से किशोर को प्रचार अभियान में जिम्मा देने चाहते हैं. लेकिन इस समय बीजेपी पार्टी अमित शाह के इर्द-गिर्द घूमती है तो जो शाह कहेंगे पार्टी में वही होगा. क्योंकि पिछले चार साल में बीजेपी को इतनी ऊंचाई में पहुंचाने का श्रेय एक ही इंसान को जाता है वह हैं अमित शाह.

पढ़ें- कांग्रेस को मिला BJP को हराने का फार्मूला, उठा सकती है ये बड़ा कदम

बता दें कि प्रशांत किशोर का करियर जब लगातार कामयाबी के ग्राफ चढ़ रहा था तो उन्हें उत्तर प्रदेश में करारी हार मिली. साल 2017 के विधानसभा चुनाव में वे जिस कांग्रेस की रणनीति तैयार कर रहे थे, उसे 2017 के विधानसभा चुनाव में जबर्दस्त हार झेलनी पड़ी. अब प्रशांत किशोर का करियर फिर से शुरुआती बिंदु पर पहुंचता दिखाई दे रहा है. वह अपने लिए फिर से एक बड़ा नाम कमाना चाहते हैं जैसे उन्होंने 2014 के चुनाव में बीजेपी को जिताने के बाद मिला था.

First published: 15 July 2018, 11:37 IST
 
पिछली कहानी
अगली कहानी