Home » राजनीति » President election: shiv sena chief Uddhav Thackeray to forward MS Swaminathan's name to Amit Shah if BJP is not ready for Bhagwat.
 

'रायसीना हिल्स' की रेस: शाह-उद्धव मुलाक़ात से पहले शिवसेना ने खेला नया कार्ड

कैच ब्यूरो | Updated on: 16 June 2017, 15:03 IST

राष्‍ट्रपति चुनाव पर अमित शाह और उद्धव ठाकरे की 18 जून को होने वाली बैठक से पहले शिवसेना ने नया कार्ड चल दिया है. सूत्रों के मुताबिक शिवसेना नया दांव खेलते हुए मशहूर कृषि वैज्ञानिक एमएस स्‍वामीनाथन का नाम राष्ट्रपति उम्मीदवार के तौर पर आगे कर सकती है.

भाजपा अध्‍यक्ष अमित शाह शुक्रवार से महाराष्‍ट्र के तीन दिवसीय दौरे पर हैं. उनकी इस दौरान शिवसेना सुप्रीमो उद्धव ठाकरे से राष्ट्रपति चुनाव को लेकर चर्चा  होनी है. सूत्रों के मुताबिक इस मीटिंग में शिवसेना प्रमुख एमएस स्‍वामीनाथन की उम्‍मीदवारी पर अमित शाह से चर्चा कर सकते हैं.

दरअसल शिवसेना के इस कदम को नया दांव इसलिए कहा जा रहा है, क्‍योंकि इससे पहले उसने आरएसएस प्रमुख मोहन भागवत की उम्‍मीदवारी का समर्थन किया था. हालांकि खुद भागवत ने इस तरह की किसी भी संभावना को खारिज कर दिया था.    

अमित शाह की उद्धव से महत्वपूर्ण  मुलाकात राष्‍ट्रपति चुनाव के संदर्भ में हो रही है, क्‍योंकि शिवसेना ने पहले से इस मसले पर स्‍वतंत्र रुख रखने की धमकी दी है. शिवसेना का अतीत भी इसकी गवाही देता है. पिछले दो राष्ट्रपति चुनाव में शिवसेना ने एनडीए के बजाए यूपीए उम्मीदवार का समर्थन किया था. 

NDA के खिलाफ वोट देने का इतिहास

भाजपा के एक वरिष्ठ नेता ने कहा, "हमें शिवसेना के वोट मिलने की उम्मीद हैं.'' उन्होंने कहा कि क्षेत्रीय पार्टी एक ऐसे उम्मीदवार के खिलाफ वोट करना नहीं चाहेगी जिसके अगला राष्‍ट्रपति बनने की प्रबल संभावना है."

महाराष्ट्र में शिवसेना और भाजपा के बीच सत्ता संघर्ष के कारण दोनों पार्टियों के बीच रिश्ते लंबे समय से तनावपूर्ण हैं. शिवसेना 2007 में प्रतिभा पाटिल और 2012 में प्रणब मुखर्जी का समर्थन कर चुकी है, जबकि एनडीए ने भैरों सिंह शेखावत और पीएम संगमा को अपना उम्मीदवार बनाया था.

First published: 16 June 2017, 15:03 IST
 
पिछली कहानी
अगली कहानी