Home » राजनीति » Punjab: Captain Amarinder Singh sworn in as CM Navjot Singh Sidhu included as a cabinet minister
 

कैप्टन ने दूसरी बार संभाली पंजाब की कमान, नवजोत सिद्धू बने कैबिनेट मंत्री

कैच ब्यूरो | Updated on: 16 March 2017, 11:51 IST
(एएनआई)

पंजाब में कैप्टन अमरिंदर सिंह ने दूसरी बार राज्य के मुख्यमंत्री के रूप में शपथ ली है. राज्य में दस साल के बाद कांग्रेस के नेतृत्व में सरकार बनी है. 11 मार्च को आए नतीजों में कांग्रेस ने राज्य में साफ़ बहुमत हासिल किया था. 117 सदस्यों की विधानसभा में कांग्रेस ने 77 सीटों पर जीत हासिल की है.

पंजाब के राज्यपाल वीपी सिंह बदनौर ने चंडीगढ़ में हुए शपथ ग्रहण समारोह में कैप्टन अमरिंदर सिंह को पद और गोपनीयता की शपथ दिलाई. अमरिंदर शपथ लेने वाले राज्य के 26वें मुख्यमंत्री हैं. शपथ ग्रहण कार्यक्रम में कांग्रेस उपाध्यक्ष राहुल गांधी के साथ ही पूर्व प्रधानमंत्री डॉक्टर मनमोहन सिंह समेत कांग्रेस के कई सीनियर नेता भी शामिल हुए.

सिद्धू-मनप्रीत बादल बने कैबिनेट मंत्री

सियासी हल्कों में इस बात को लेकर भी चर्चा थी कि चुनाव से पहले बीजेपी छोड़कर पार्टी में शामिल हुए पूर्व क्रिकेटर नवजोत सिंह सिद्धू को राज्य का डिप्टी सीएम बनाया जाएगा. उन्होंने समारोह के दौरान तीसरे नंबर पर कैबिनेट मंत्री के रूप में शपथ ली.  

इसके अलावा मनप्रीत सिंह बादल, ब्रह्म महेंद्रा, साधु सिंह धर्मसोत, तृप्त राजिंदर सिंह बाजवा, राणा गुरजीत सिंह, चरणजीत सिंह चन्नी ने कैबिनेट मंत्री की शपथ ली. वहीं अरुणा चौधरी और रजिया सुल्ताना को राज्यमंत्री, स्वतंत्र प्रभार के तौर पर शपथ दिलाई गई.  

चंडीगढ़ में पंजाब राजभवन में समारोह को सादगी भरे अंदाज में आयोजित किया गया. कैप्टन अमरिंदर सिंह के इस सादे शपथ ग्रहण का मकसद जनता के बीच यह संदेश देना था कि कांग्रेस सरकार किसी भी तरह की फिजूलखर्ची नहीं होने देगी. दरअसल पंजाब सरकार पर करीब दो लाख करोड़ का कर्ज है. इसका जिक्र नवजोत सिद्धू भी चुनावी सभाओं में कर चुके हैं. 

दस साल बाद अकाली दल का सफाया

पंजाब में पिछले दस साल से अकाली-बीजेपी गठबंधन की सरकार थी. इस बार कांग्रेस, अकाली-बीजेपी गठजोड़ और आम आदमी पार्टी के बीच त्रिकोणीय मुकाबला था. कांग्रेस ने 38.5 फीसदी वोट हासिल करते हुए 77 सीटों पर जीत दर्ज करते हुए बहुमत हासिल किया.

अकाली-बीजेपी ने 30.6 फीसदी वोट (25.2 फीसदी शिरोमणि अकाली दल, 5.4 फीसदी बीजेपी) के साथ 18 सीटें जीतीं. आम आदमी पार्टी ने पहली बार चुनाव लड़ते हुए मुख्य विपक्षी दल का दर्जा हासिल किया है. आप को 23.7 फीसदी वोटों के साथ 20 विधानसभा सीटों पर विजय मिली है.

भारत निर्वाचन आयोग
First published: 16 March 2017, 11:32 IST
 
पिछली कहानी
अगली कहानी