Home » राजनीति » Punjab: Rahul Gandhi addressing a rally in Majithia
 

पंजाब: मजीठा रैली में राहुल ने मोदी-केजरीवाल पर बोला जमकर हमला

कैच ब्यूरो | Updated on: 27 January 2017, 18:35 IST
(एएनआई)

कांग्रेस उपाध्यक्ष राहुल गांधी ने शुक्रवार को पंजाब के मजीठा में एक रैली को संबोधित किया. मजीठा की रैली में राहुल गांधी ने ऐलान किया कि पंजाब में यदि कांग्रेस की सरकार बनी तो कैप्टन अमरिंदर सिंह ही मुख्यमंत्री बनेंगे. 

पंजाब सरकार में मंत्री बिक्रम सिंह मजीठिया के गढ़ में एक रैली को संबोधित करते हुए राहुल ने पंजाब में तीन दिन तक चलने वाले अपने दौरे की शुरुआत की.

राहुल गांधी ने कहा कि यदि कांग्रेस पार्टी विधानसभा चुनाव जीतकर सत्ता में आती है तो अपने राजनीतिक कैरियर का आखिरी चुनाव लड़ रहे 74 वर्षीय अमरिंदर सिंह पंजाब के अगले मुख्यमंत्री होंगे.

राहुल ने कहा कि राज्य की जनता के सहयोग से केवल अमरिंदर ही पंजाब को बदल सकते हैं और कोई दूसरा रास्ता नहीं है. राज्य में सत्ताधारी शिरोमणि अकाली दल और आम आदमी पार्टी कांग्रेस का मजाक उड़ा रही थीं और सवाल कर रही थीं कि पार्टी क्यों नहीं अमरिंदर सिंह को चार फरवरी को होने वाले विधानसभा चुनाव में पार्टी की ओर से मुख्यमंत्री पद का उम्मीदवार घोषित करती है.

राहुल गांधी ने कहा, ‘पंजाब को इसके लोग चलाएंगे. मैं आपको बताना चाहता हूं कि पंजाब का मुख्यमंत्री पंजाब से होगा और पंजाब के मुख्यमंत्री यहां बैठे हुए हैं. अमरिंदर सिंह पंजाब के मुख्यमंत्री पद के उम्मीदवार हैं और वह पंजाब के मुख्यमंत्री बनेंगे.’

केजरीवाल पर हमला करते हुए राहुल गांधी ने कहा कि पंजाब ‘रिमोट कंट्रोल से नहीं चलेगा’ क्योंकि उसे रिमोट कंट्रोल की जरूरत नहीं है. साथ ही उन्होंने केजरीवाल पर आरोप लगाया कि वह एक ही साथ दिल्ली और पंजाब का मुख्यमंत्री बनना चाहते हैं. 

उन्होंने राज्य में सत्तारूढ़ बादल परिवार को भी आड़े हाथ लिया और उन पर पंजाब को बर्बाद करने का आरोप लगाया तथा कहा कि प्रधानमंत्री नरेंद्र मोदी उनका पक्ष ले रहे हैं और भ्रष्टाचार को खत्म करने की बात करते हैं.

अमरिंदर सिंह और नवजोत सिंह सिद्धू की मौजूदगी में राज्य के अपने तीन दिवसीय दौरे की शुरुआत चुनावी रैली से करते हुए राहुल गांधी ने आप और केजरीवाल पर आरोप लगाया कि वे झूठे और खोखले वादे कर राज्य की जनता को मूर्ख बना रहे हैं.

कांग्रेस नेता ने कहा कि यह चुनाव, ‘‘सरकार गठन के लिए नहीं बल्कि पंजाबीयत और पंजाब के सम्मान को बचाने के लिए" है और केवल कांग्रेस ही प्रदेश की जनता की मदद से ऐसा कर सकती है. 

उन्होंने यह भी कहा कि यदि कांग्रेस सत्ता में आती है तो सरकार राज्य में मादक पदार्थों के संकट से निपटने के लिए कानून लाएगी और नशे का कारोबार करने वाले सभी लोगों को सलाखों के पीछे डाला जाएगा.

First published: 27 January 2017, 18:35 IST
 
पिछली कहानी
अगली कहानी