Home » राजनीति » Rahul Gandhi address at UC Berkeley in us, ‘In Kashmir, UPA’s 9 years of work destroyed in 30 days by NDA.
 

अमेरिकी यूनिवर्सिटी में राहुल गांधी के भाषण की 10 ज़रूरी बातें जो आपको मालूम होनी चाहिए

हेमराज सिंह चौहान | Updated on: 12 September 2017, 12:57 IST

कांग्रेस उपाध्यक्ष राहुल गांधी ने अमेरिका की बर्कले यूनिवर्सिटी में भाषण दिया. अपने भाषण में राहुल गांधी ने पीएम बनने की अटकलों से लेकर कश्मीर तक के मुद्दे पर बात की. उन्होंने नोटबंदी समेत कई मोर्चों पर मोदी सरकार को निशाने पर लिया लेकिन साथ ही ये भी माना कि देश के पीएम मोदी एक बेहतर वक्ता हैं.. राहुल ने अपने संबोधन में पूर्व पीएम मनमोहन सिंह की भी तारीफ की. 

राहुल गांधी के भाषण की 10 बड़ी बातें

1- राहुल गांधी ने माना कि 2012 में उनकी पार्टी को अहंकार हो गया था. उन्होंने कहा कि किसी भी दल को सत्ता में आने पर अहंकार नहीं होना चाहिए. उन्होंने कहा कि अंहकार के कारण उनकी पार्टी ने जनता से संवाद कम कर दिया था, जिसके बाद लोगों ने पार्टी से दूरी बनानी शुरू कर दी.

2- राहुल गांधी ने पहली बार अपने पीएम पद की उम्मीदवारी पर खुलकर बात की. उन्होंने कहा कि अगर मेरी पार्टी मुझसे ये जिम्मेदारी लेने को कहेगी तो मैं इसे स्वीकार करने को तैयार हूं. उन्होंने कहा हमारी पार्टी (कांग्रेस) में लोकतंत्र है और अगर पार्टी कहेगी तो मैं जिम्मेदारी लूंगा.

3- राहुल गांधी ने नोटबंदी को लेकर एक बार मोदी सरकार को निशाने पर लिया. उन्होंने कहा कि नोटबंदी पर सरकार को संसद को बताना चाहिए था क्योंकि ये एक बड़ा फैसला था. पीएम मोदी ने संसद को अंधेरे में रखकर नोटबंदी की. उन्होंने कहा कि नोटबंदी के कारण देश की जीडीपी दो प्रतिशत तक गिर गई है. देश में रोजगार का संकट खड़ा हो गया है और अर्थव्यवस्था को भारी नुकसान पहुंचा है.

4- राहुल गांधी ने कहा कि देश में इस समय हिंसा काफी बढ़ गई है. आज देश में हिंसा और नफरत की राजनीति हो रही है. उन्होंने कहा कि, हिंसा का मतलब मुझसे बेहतर कौन जान सकता है क्योंकि इसमें मैंने अपनी दादी और पिता को खोया है, जिन लोगों ने मेरी दादी को गोली मारी, मैं उन लोगों के साथ बैडमिंटन खेलता था. राहुुल ने आगे कहा कि वो किसी भी तरह की हिंसा के खिलाफ हैं.

5- राहुल गांधी ने मोदी सरकार पर सूचना के अधिकार (आरटीआई) को कमजोर करने का आरोप लगाया. उन्होंने कहा कि हमने सिस्टम में पारदर्शिता लाने के लिए ये कानून बनाया था. 

6- राहुल गांघी ने कहा कि कश्मीर समस्या को लेकर हमारी सरकार ने बेहतरीन काम किया. 2013 में हमने कश्मीर में आतंकवाद की कमर तोड़ दी थी. उस समय मैंने खुद मनमोहन सिंह को गले लगाकर कहा था कि ये आपकी सबसे बड़ी सफलता है. हमनें इस पर बड़े भाषण नहीं दिए, हमने वहां पर पंचायती राज पर काम किया, छोटे लेवल पर लोगों से बात की, लेकिन आज हालात बदतर है. इस समय पूरा कश्मीर सुलग रहा है. 

7- राहुल गांधी ने पीएम मोदी की तारीफ करते हुए कहा कि मैं विपक्ष का नेता हूं, लेकिन पीएम मोदी मेरे भी पीएम हैं. वह मुझसे अच्छे वक्ता है, वह लोगों को मैसेज देना जानते हैं. स्वच्छ भारत एक अच्छा कदम है. मुझे भी पसंद है. राहुल ने आगे कहा, मुझे लगता है कि मोदी अपने साथ काम करने वालों से बातचीत नहीं करते, सांसद और भाजपा के लोगों ने मुझे यह बताया है.

8- राहुल गांधी ने कहा कि बीजेपी के कुछ लोग लगातार मेरे खिलाफ एजेंडे में लगे हुए हैं. मुझे बार-बार सोशल मीडिया पर ट्रोल किया जाता है. ये लोग मशीन में बैठकर मेरे हर बयान और मेरे काम को गलत संदर्भ में दिखाने की कोशिश करते हैं लेकिन दुनिया मुझे देख रही है और मेरे काम से मेरे बारे में राय बनाई जानी चाहिए.

9- राहुल ने कहा जब भारत में मेरे पिता राजीव गांधी ने कंप्यूटर के बारे में बात की थी, तो उसका विरोध हुआ था. बीजेपी के नेता जो बाद में भारत के प्रधानमंत्री बने थे, उन्होंने भी कंप्यूटर का विरोध किया था.

10-  राहुल ने कहा कि आज मोदी सरकार हमारी कई योजनाओं को आगे बढ़ा रही है. जीएसटी और मनरेगा हमारा किया काम है जिस पर वर्तमान सरकार काम कर रही है.

First published: 12 September 2017, 12:57 IST
 
पिछली कहानी
अगली कहानी