Home » राजनीति » Congress demands parliamentary committee to probe E Ahamed's death and role of hospital
 

ई अहमद के मामले में केरल के सांसदों के साथ आए राहुल गांधी

कैच ब्यूरो | Updated on: 6 February 2017, 14:58 IST
(एएनआई)

केरल के दिवंगत सांसद और पूर्व केंद्रीय मंत्री ई अहमद के मामले में संसद की कार्यवाही के दौरान जबरदस्त हंगामा देखने को मिला. लोकसभा में कुछ विपक्षी सांसदों ने इस दौरान पोस्टर लहराए.  

लोकसभा स्पीकर सुमित्रा महाजन ने सदस्यों के रवैए पर एतराज जताते हुए उन्हें रोका. स्पीकर ने कहा कि ई अहमद की मौत के बाद उनके सम्मान में एक दिन लोकसभा का कामकाज स्थगित रखा गया. जब हंगामा बढ़ता गया तो स्पीकर ने दोपहर 12 बजे तक के लिए कार्यवाही स्थगित कर दी.

दरअसल एक फरवरी को बजट पेश करने से पहले देर रात में ऑल इंडिया मुस्लिम लीग के सांसद ई अहमद की दिल्ली के अस्पताल में इलाज के दौरान मौत हो गई थी. बजट सत्र के पहले दिन ई अहमद अचानक संसद में गिर गए थे. उन्हें इस दौरान हार्ट अटैक हो गया. 

कांग्रेस ने की कमेटी बनाने की मांग

ई अहमद के निधन के बाद कांग्रेस समेत कई विपक्षी पार्टियों ने बजट को एक दिन के लिए टालने की मांग की थी, लेकिन सुमित्रा महाजन ने संसदीय बाध्यता का हवाला दिया था.

लोकसभा में कांग्रेस के नेता मल्लिकार्जुन खड़गे ने ई अहमद की मौत के मामले में जांच करने के लिए संसदीय कमेटी गठित कर दोषियों को दंडित करने की मांग की है. इससे पहले संसद भवन परिसर में केरल के सांसदों ने गांधी प्रतिमा के पास विरोध प्रदर्शन किया. प्रदर्शन में कांग्रेस उपाध्यक्ष राहुल गांधी भी शामिल हुए.

ई अहमद के परिजनों के अपमान का आरोप

ई अहमद की मौत के मामले में केंद्रीय मंत्री वेंकैया नायडू ने कहा कि सदन में मामला आने पर सरकार जवाब देगी. कुछ दल इस मामले में गैर जरूरी राजनीति कर रहे हैं. नायडू ने कहा कि डॉक्टरों ने ई अहमद को बचाने की पूरी कोशिश की, लेकिन निजी स्वार्थ की वजह से कुछ दल बेवजह हंगामा कर रहे हैं.

सांसद के सी वेणुगापाल और प्रेमचंद्रन ने ई अहमद की मौत के मामले में लोकसभा में चर्चा के लिए स्थगन प्रस्ताव दिया है. प्रेमचंद्रन का आरोप है कि राम मनोहर लोहिया अस्पताल प्रशासन की तरफ से ई अहमद के परिवार का अपमान किया गया. 

First published: 6 February 2017, 14:58 IST
 
पिछली कहानी
अगली कहानी