Home » राजनीति » PM Narendra Modi's so-called bold decision demonetisation was a "foolish" decision: Rahul Gandhi
 

राहुल गांधी: Paytm का मतलब पे टू मोदी

कैच ब्यूरो | Updated on: 8 December 2016, 11:59 IST
(एएनआई)

कांग्रेस उपाध्यक्ष राहुल गांधी ने नोटबंदी को लेकर प्रधानमंत्री नरेंद्र मोदी पर निशाना साधा है. इस मुद्दे पर संसद में लगातार जारी गतिरोध के लिए भी राहुल ने सरकार को जिम्मेदार ठहराया है.

राहुल ने संवाददाताओं से बातचीत करते हुए कहा, "सदन को चलाने की जिम्मेदारी सरकार और स्पीकर की है, न कि विपक्ष की." 

'नोटबंदी साहसिक नहीं मूर्खतापूर्ण फैसला'

पांच सौ और एक हजार के पुराने नोट बंद करने के मोदी सरकार के फैसले की आलोचना करते हुए राहुल गांधी ने कहा, "पीएम मोदी का तथाकथित साहसिक फैसला एक मूर्खतापूर्ण फैसला था."

इस दौरान कांग्रेस नेता ने कहा, "लोकसभा में अगर मुझे बोलने दिया जाए तो मैं सब बता दूंगा कि पेटीएम कैसे पे टू मोदी होता है. वह (पीएम मोदी) मुस्कुरा रहे हैं, जबकि देश की जनता कष्ट झेल रही है." 

राहुल गांधी ने कहा, "कैशलेस इकोनॉमी के पीछे आइडिया यह है कि इस लेन-देन से कुछ लोग अधिकतम फायदा उठाएं, जबकि इससे देश का नुकसान हुआ है."

नोटबंदी के 30 दिन पर प्रदर्शन

इससे पहले विपक्षी सांसदों ने नोटबंदी के एक महीने पूरे होने पर संसद भवन में स्थित गांधी प्रतिमा के पास धरना दिया.

कांग्रेस नेता गुलाम नबी आजाद ने कहा, "जब से विमुद्रीकरण का फैसला लिया गया, आज तीस दिन बीत चुके हैं. हम कोई नारे नहीं लगाएंगे. काला दिवस मनाएंगे, मौन होगा." 

नायडू ने बताया कांग्रेस का बड़ा तमाशा

इस बीच केंद्रीय मंत्री वेंकैया नायडू ने विपक्ष के विरोध प्रदर्शन पर सवाल उठाते हुए कहा, "गांधीजी ने सत्य की जीत के लिए सत्याग्रह का आह्वान किया था. गांधी नाम वाले तथाकथित लोग क्या कर रहे हैं? विरोध प्रदर्शन. गांधी जी की प्रतिमा के सामने फोटो खिंचवाकर विपक्ष महात्मा गांधी की विरासत का दावा नहीं कर सकता."

संसद में जारी गतिरोध पर भी नायडू ने विपक्ष को कठघरे में खड़ा करते हुए कहा, "पिछले दो हफ्ते से आपने संसद में बहस नहीं होने दी, अब गांधी प्रतिमा के सामने धरना देकर कांग्रेस बड़ा तमाशा कर रही है."

First published: 8 December 2016, 11:59 IST
 
पिछली कहानी
अगली कहानी