Home » राजनीति » he family members of the late ex-serviceman were beaten & dragged, this is not right. The govt must apologise says Rahul Gandhi
 

ओआरओपी: राहुल बोले पैसे नहीं इज़्ज़त-इंसाफ़ की लड़ाई, माफ़ी मांगे मोदी सरकार

कैच ब्यूरो | Updated on: 4 November 2016, 16:24 IST
(एएनआई)
QUICK PILL
  • कांग्रेस उपाध्यक्ष राहुल गांधी ने दिल्ली के जंतर-मंतर पर वन रैंक वन पेंशन की मांग को लेकर धरना दे रहे पूर्व सैनिकों से मुलाकात की.
  • राहुल ने मोदी सरकार पर ओआरओपी को लेकर झूठ बोलने का आरोप लगाया है.
  • बुधवार को पूर्व फौजी रामकिशन ग्रेवाल ने दिल्ली में ओआरओपी की मांग पर खुदकुशी कर ली थी.
  • राहुल ने कहा है ग्रेवाल के परिजनों से पुुलिस की बदसलूकी पर मोदी सरकार को माफी मांगनी चाहिए.

कांग्रेस उपाध्यक्ष राहुल गांधी ने दिल्ली में वन रैंक वन पेंशन को लेकर धरना दे रहे पूर्व सैनिकों से मुलाकात के बाद मोदी सरकार को निशाने पर लिया है. राहुल ने गुरुवार को हरियाणा के भिवानी में रिटायर्ड फौजी राम किशन ग्रेवाल के अंतिम संस्कार में भी हिस्सा लिया था.

इससे पहले बुधवार को राहुल जब रामकिशन ग्रेवाल  के परिजनों से मिलने के लिए राम मनोहर लोहिया अस्पताल जा रहे थे, तो उन्हें दिल्ली पुलिस ने रोकने के बाद हिरासत में ले लिया था. दो दिन में राहुल को दिल्ली पुलिस ने तीन बार हिरासत में लिया. हालांकि बाद में उन्हें छोड़ दिया गया.

'मोदी सरकार ने दिया धोेखा'

राहुल गांधी ने ओआरओपी को लेकर मोदी सरकार पर धोखा देने का आरोप लगाते हुए कहा, "मैंने पूर्व सैनिकों से अभी मुलाकात की है. उनका कहना है कि यह पैसे की लड़ाई नहीं है, यह न्याय के लिए है."

राहुल ने इस दौरान कहा, "पूर्व फौजियों ने मुझसे कहा कि अगर केंद्र सरकार उनसे कह दे कि वह कुछ नहीं कर सकती तो हममें से किसी को कोई दिक्कत नहीं होगी."

'509 दिन से प्रदर्शन क्यों?'

कांग्रेस उपाध्यक्ष ने मोदी सरकार के रवैए पर सवाल उठाते हुए कहा, "मैं नहीं समझ पा रहा हूं कि देश में क्या हो रहा है. किसानों की कोई इज़्ज़त नहीं है और पूर्व सैनिकों की भी कोई सुनवाई नहीं हो रही है." 

राहुल ने कहा कि मोदी सरकार से ओआरओपी पर माफी मांगनी चाहिए. राहुल ने कहा, "वो सिर्फ पेंशन बढ़ोतरी है, वन रैंक वन पेंशन नहीं है. पूर्व सैनिक जंतर-मंतर पर 509 दिन से क्यों खड़े हैं? क्योंकि हिंदुस्तान की सरकार ने ओआरओपी नहीं लागू किया है." 

'रामकिशन के परिवार से माफी मांगे सरकार'

राहुल के साथ इस दौरान वरिष्ठ कांग्रेस नेता और पूर्व रक्षामंत्री एके एंटनी भी मौजूद रहे. राहुल ने दिल्ली में ओआरओपी की मांग को लेकर कथित रूप से खुदकुशी करने वाले रामकिशन ग्रेवाल के परिजनों से पुलिस की बदसलूकी पर भी सवाल खड़े किए.

कांग्रेस उपाध्यक्ष ने कहा, "दिवंगत पूर्व सैनिक रामकिशन ग्रेवाल के परिजनों को पीटा गया, उन्हें घसीटकर ले जाया गया. यह ठीक नहीं है. मोदी सरकार को माफी मांगनी चाहिए."

राहुल ने प्रधानमंत्री नरेंद्र मोदी पर ओआरओपी को लेकर झूठ बोलने का आरोप लगाया. राहुल ने कहा, "नरेंद्र मोदी जी आपको झूठ बोलना बंद करना चाहिए और ओआरओपी को लागू करने के लिए काम करना चाहिए."

राहुल गांधी ने कहा, "60 से 80 अनुभवी लोग (पूर्व सैनिक) वहां थे. उन्होंने कहा कि जिसे मोदीजी वन रैंक पन पेंशन बता रहे हैं वह केवल पेंशन बढ़ोतरी है."

रिटायर्ड फौजी की मौत पर सियासत

इससे पहले दिल्ली में रिटायर्ड फौजी रामकिशन ग्रेवाल की मौत पर सियासत गरमा गई थी. आरएमएल अस्पताल में परिवार वालों से राहुल, दिल्ली के सीएम केजरीवाल और डिप्टी सीएम मनीष सिसोदिया को नहीं मिलने दिया गया था.

इन तीनों के अलावा कई नेताओं को दिल्ली पुलिस ने हिरासत में ले लिया था. अगले दिन राहुल और अरविंद केजरीवाल भिवानी के बामला गांव में पूर्व सैनिक के अंतिम संस्कार में शामिल हुए थे. केजरीवाल ने पूर्व सैनिक के परिजनों को एक करोड़ की आर्थिक मदद का एलान किया था.

वहीं केजरीवाल ने ओआरओपी पर पीएम मोदी पर झूठ बोलने का आरोप लगाते हुए कहा था कि पीएमओ के इशारे पर दिल्ली पुलिस ने उन्हें,मनीष सिसोदिया और राहुल गांधी को हिरासत में लिया था. रामकिशन ग्रेवाल की कथित खुदकुशी के मामले की जांच दिल्ली पुलिस की क्राइम ब्रांच कर रही है.

First published: 4 November 2016, 16:24 IST
 
पिछली कहानी
अगली कहानी