Home » राजनीति » Rahul Gandhi to take over as Congress President charge from sonia gandhi on today, party workers and supporters celebrates
 

राहुल की ताजपोशी पर कांग्रेस मुख्यालय में जमकर मना जश्न

हेमराज सिंह चौहान | Updated on: 16 December 2017, 11:08 IST

कांग्रेस को 19 साल बाद नया राष्ट्रीय अध्यक्ष मिलने जा रहा है. कांग्रेस के दिल्ली हेडक्वार्टर में इसकी तैयारियां जोर शोर से शुरु हो गई है. 132 साल पुरानी कांग्रेस पार्टी का कार्यकाल अभी तक पूर्व प्रधानमंत्री राजीव गांधी की पत्नी सोनिया गांधी को पास था. वो साल 1998 से कांग्रेस पार्टी के अध्यक्ष पद के तौर पर कार्य कर रही है. उन्होंने सीताराम केसरी की जगह ली थी. 

नेहरु- गांधी विरासत को आगे बढ़ाते हुए राहुल गांधी शनिवार को कांग्रेस के राष्ट्रीय अध्यक्ष का पद संभालने जा रहे है. राहुल गांधी को अध्यक्ष पद की बागडोर सौंपने की बात लंबे समय से चल रही है. जनवरी 2013 को राहुल को पार्टी के राष्ट्रीय अधिवेशन में कांग्रेस उपाध्यक्ष का पद दिया गया था. आमतौर पर कांग्रेस में ये पद नहीं होता पर उनकी जिम्मेदारियों को बढ़ानेे के लिए उन्हें ये पद सौंपा गया था.

 राहुल पिछले कुछ समय से लगातार कांग्रेस पार्टी में एक्टिव भूमिका में है. सोनिया गांधी की तबीयत खराब होने की वजह से वो पार्टी के कई अहम फैसले और रणनीति में मुख्य भूमिका में रहे हैं. राहुल की शनिवार को ताजपोशी के ठीक बाद गुजरात और हिमाचल प्रदेश के रिजल्ट आ रहे हैं. जो उनकी पहली परीक्षा होगी.

राहुल गांधी की ताजपोशी को लेकर कांग्रेस के कार्यकर्ताओं और समर्थकों में भारी उत्साह है. दिल्ली स्थित कांग्रेस मुख्यालय के आसपास की जगह को राहुल गांधी के पोस्टर और होर्डिंग से पाट दिया है. इनमें उन्हें पार्टी की कमान औपचारिक तौर पर संभालने के लिए शुभकामनाएं दी जा रही हैं.  

कांग्रेस मुख्यालय के बाहर राहुल गांधी के समर्थक आपस में मिठाइयां बांटकर राहुल के अध्यक्ष पद पर ताजपोशी का उत्सव मना रहा हैं. कार्यकर्ता दिल्ली स्थित कांग्रेस मुख्यालय में जमकर आतिशबाजी भी कर रहे हैं. कांग्रेस मुख्यालय में राहुल गांधी के नारे लग रहे हैं.

राहुल गांधी के दिल्ली स्थित आवास 12- तुगलक लेन पर भी उनके समर्थक भारी संख्या में जमा हुए हैं. राहुल गांधी के समर्थक यहां इकठ्ठा होकर लोक नृत्य कर रहे हैं. सोमवार को सोनिया गांधी ने कहा था  कि राहुल गांधी के पद संभालने के बाद वो राजनीति से रिटायर हो जाएगी. पहले ये बात सामने आई थी कि वो पार्टी की चेयरपर्सन बन सकती है. हम आपको बता दें कि तबीयत खराब होने की वजह से वो पिछले कुछ समय से राजनीति में पूरी तरह सक्रिय नहीं है. 

गौरतलब है कि कांग्रेस उपाध्यक्ष राहुल गांधी ने दिल्ली के कांग्रेस मख्यालय में इसी महीने चार तारीख को पार्टी के अध्यक्ष पद के लिए नामांकन भरा था. राहुल गांधी के नामांकन दाखिल करते समय उनके साथ कई सीनियर नेता मौजूद थे. यूपीए के कार्यकाल के दौरान दस साल तक पीएम रहे मनमोहन सिंह, दिल्ली की पूर्व सीएम शीला दीक्षित, मध्य प्रदेश कांग्रेस के प्रमुख नेता और राहुल के करीबी ज्योतिरादित्य सिंधिया समेत कई सीनियर कांग्रेसी नेता इस मौके पर राहुल के साथ थे.

राहुल गांधी के नामांकन दाखिल करने के अलावा कांग्रेस के किसी और नेता ने नामांकन नहीं दाखिल किया था. इसके बाद 11 दिसंबर को  राहुल गांधी को कांग्रेस के अध्यक्ष पद के लिए निर्विरोध चुन लिए गया था. राहुल के पक्ष में 86 लोगों ने प्रस्ताव किया था. राहुल गांधी की तरफ दाखिल किए गए पहले सेट के लिए सोनिया गांधी के करीबी अहमद पटेल, पुडुचेरी के सीएम नारायण सामी, पूर्व दिल्ली सीएम शीला दीक्षित, कांग्रेस के सीनियर नेता मोतीलाल वोरा, कमलनाथ, मोहसिना किदवई, तरुण गोगोई और अशोक गहलोत प्रस्तावक बने. 

First published: 16 December 2017, 11:08 IST
 
पिछली कहानी
अगली कहानी