Home » राजनीति » Railway Minister Suresh Prabhu offers to resign after train accident, Prime Minister has asked him to wait.
 

रेल मंत्री प्रभु के इस्तीफ़े की पेशकश पर पीएम मोदी ने इंतज़ार करने को कहा

कैच ब्यूरो | Updated on: 23 August 2017, 15:34 IST

रेल मंत्री सुरेश प्रभु ने लगातार हो रहे ट्रेन हादसे पर पीएम मोदी के सामने इस्तीफे की पेशकश की है. उत्तर प्रदेश में पिछले पांच दिनों मेें दो ट्रेन दुर्घटनाओं के बाद सुरेश प्रभु ने ये कदम उठाया है. हालांकि पीएम मोदी ने उनका इस्तीफा अभी स्वीकार किया है औ उनसे इंतजार करने को कहा है.

प्रभु ने इसकी जानकारी पीएम मोदी से मिलने के बाद ट्वीटर के जरिए दी. उन्होंने बुधवार को  लगातार कई ट्वीट किए. अपने एक ट्वीट में उन्होंने लिखा कि,

 

 

' मैंने PM से मिलकर हादसे की ज़िम्मेदारी ली है, PM ने इंतज़ार करने को कहा है'.

प्रभु ने एक और ट्वीट कर कहा, 'तीन साल से भी कम वक्त के दौरान मैंने मंत्री रहते हुए खून पसीने से रेलवे की बेहतरी के लिए काम किया. हाल में हुए हादसों से मैं काफी आहत हूं. पैसेंजरों की जान जाने, उनके घायल होने से मैं दुखी हूं. इससे मैं बहुत पीड़ा में हूं'

 

उन्होंने आगे लिखा कि, न्यू इंडिया विजन के तहत पीएम को ऐसे रेलवे की जरूरत है जो सक्षम हो और आधुनिक हो. मैं वादा कर सकता हूं कि हम उसी राह पर हैं, रेलवे आगे बढ़ रहा है.  पीएम मोदी के नेतृत्व में सभी सेक्टर में दशकों पुराने सिस्टम और सुधारों से पार पाने की कोशिश की.

गौरतलब है कि बुधवार तड़के यूपी में औरैया जिले के पास कैफियत एक्सप्रेस के इंजन सहित पांच कोच पटरी से उतर गए. इस घटना में करीब 74 से अधिक यात्री घायल हो गए. ये ट्रेन आजमगढ़ से दिल्ली आ रही थी. 

जानकारी के मुताबिक दुर्घटना बुधवार तड़के करीब 2 बजकर 40 मिनट पर हुई, जब अछल्दा और पाटा गांवों के बीच एक क्रॉसिंग पर ट्रेन की डंपर से भिड़ंत हो गई. ट्रेन के बी2, एच1, ए 2 और एस 10 कोच पटरी से उतर गए. घायलों में करीब दर्जन भर लोगों को औरैया के अस्पताल जबकि अन्य को सैफई मेडिकल कॉलेज में भर्ती कराया गया है.

इससे पहले  पिछले शनिवार को मुजफ्फरनगर के खतौली में उत्कल एक्सप्रेस के पटरी से उतरने के चलते 22 लोगों की मौत हो गई थी और 156 लोग घायल हो गए थे. 

First published: 23 August 2017, 15:34 IST
 
पिछली कहानी
अगली कहानी