Home » राजनीति » Rajasthan: Mayawati attacks on CM Gehlot says phone tapping is illegal work
 

राजस्थान: मायावती का हमला- CM गहलोत ने फोन टेप कराकर किया गैर-कानूनी काम, लगे राष्ट्रपति शासन

कैच ब्यूरो | Updated on: 18 July 2020, 12:29 IST

Rajasthan: राजस्थान का सियासी ड्रामा खत्म होने का नाम नहीं ले रहा है. इस ड्रामे में अब उत्तर प्रदेश की पूर्व मुख्यमंत्री और बीएसपी सुप्रीमो मायावती की एंट्री हो गई है. मायावती ने फोन टैपिंग मामले को लेकर राज्य के मुख्यमंत्री अशोक गहलोत पर निशाना साधा है. उन्होंने कहा है कि सीएम ने फोन टैपिंग कराकर गैर-कानूनी काम किया है.

मायावती ने आरोप लगाया कि राजस्थान के मुख्यमंत्री ने पहले दल-बदल कानून का खुला उल्लंघन किया. उन्होंने बीएसपी के साथ लगातार दूसरी बार दगाबाजी की और हमारे विधायकों को कांग्रेस में शामिल कराया. इसके बाद अब जग-जाहिर तौर पर फोन टेप कराकर इन्होंने एक और गैर-कानूनी व असंवैधानिक काम किया है.

मायावती ने आगे कहा कि इस तरह से कांग्रेस पार्टी ने राजस्थान में लगातार राजनीतिक गतिरोध, आपसी उठा-पठक व सरकारी अस्थिरता के हालात पैदा किया. इस कारण राज्य के राज्यपाल को इस पर प्रभावी संज्ञान लेते हुए राजस्थान में राष्ट्रपति शासन लगाने की सिफारिश करनी चाहिए. इससे राज्य में लोकतंत्र की और ज्यादा दुर्दशा न हो.

जम्मू-कश्मीर: शोपियां के अमशीपोरा में सुरक्षा बलों और आतंकियों के बीच मुठभेड़, तीन आतंकी ढेर

बता दें कि राजस्थान में फोन टैपिंग का मामला गर्माया हुआ है. कांग्रेस पर हमला करते हुए बीजेपी प्रवक्ता संबित पात्रा ने फोन टैपिंग कांड की सीबीआई जांच की मांग की. पात्रा ने कहा कि क्या राजस्थान में फोन टैपिंग की गई है? यदि की गई है तो राज्य सरकार ने क्या मानक प्रक्रिया का पालन किया है.

उन्होंने कहा कि बीजेपी इस पूरे प्रकरण पर CBI द्वारा जांच की मांग करती है. संबित पात्रा ने सवाल पूछा कि क्या एसओपी फॉलो हुआ और फोन टेपिंग इत्यादि किया गया? उन्होंने सवाल किया कि क्या सभी राजनीतिक पार्टी के लोगों की फोन टैपिंग की जा रही है. तत्काल इसकी CBI जांच की जानी चाहिए.

क्या राजस्थान सरकार कर रही है नेताओं की फोन टैपिंग, CBI करे इसकी जांच- BJP

लेह के बाद LOC पर फॉरवर्ड एरिया के दौरे पर रक्षामंत्री, बाबा अमरनाथ का करेंगे दर्शन

First published: 18 July 2020, 12:29 IST
 
पिछली कहानी
अगली कहानी