Home » राजनीति » Rajinikanth said CAA no threat to Muslims, if something goes wrong, I will first raise my voice
 

CAA से मुसलमानों को कोई खतरा नहीं, कुछ गलत हुआ तो मैं सबसे पहले आवाज उठाऊंगा : रजनीकांत

कैच ब्यूरो | Updated on: 5 February 2020, 15:15 IST

देशभर में नागरिकता कानून के विरोध के मद्देनजर सुपरस्टार रजनीकांत ने बुधवार को कहा कि विवादास्पद नागरिकता संशोधन अधिनियम (CAA) देश के मुसलमानों के लिए खतरा नहीं है. उन्होंने जनसंख्या रजिस्टर (एनपीआर) का भी समर्थन किया और कहा कि यह देश के लिए बहुत आवश्यक है. रजनीकांत ने कहा कि कांग्रेस पार्टी को इसे पहले ही लागू कर देना चाहिए था.

एक रिपोर्ट के अनुसार रजनीकांत ने कहा“सीएए मुसलमानों के लिए कोई खतरा नहीं है. अगर वे परेशानी का सामना करते हैं तो मैं उनके लिए आवाज उठाने वाला पहला व्यक्ति बनूंगा. रजनीकांत ने यह भी कहा कि केंद्र सरकार ने आश्वासन दिया है कि भारतीयों को नए नागरिकता कानून से कोई परेशानी नहीं होगी. उन्होंने इस बात पर भी हैरानी जताई कि विभाजन के बाद भारत में रहने का फैसला करने वाले मुसलमानों को देश से बाहर कैसे भेजा जा सकता है.

रजनीकांत ने आरोप लगाया कि राजनीतिक दल अपने स्वार्थों के लिए सीएए के खिलाफ लोगों को उकसा रहे है, उन्होंने सीसीएए के खिलाफ विरोध प्रदर्शन के लिए धार्मिक नेताओं को भी दोषी ठहराया. रजनीकांत का कहना है कि संशोधित नागरिकता कानून का विरोध करने वालों ने मुसलमानों के साथ भेदभाव किया है और संविधान के धर्मनिरपेक्ष सिद्धांतों का उल्लंघन किया है.

उन्होंने कहा सरकार का कहना है कि इस कानून से तीन मुस्लिम देशों में उत्पीड़न का सामना कर रहे लोगों को फायदा होगा. सुपरस्टार ने पिछले साल दिसंबर में नागरिकता अधिनियम को लेकर देश के विभिन्न हिस्सों में हिंसा पर चिंता व्यक्त की है.

SBI के बाद अब ICICI बैंक के ATM से भी निकालें बिना डेबिट कार्ड के कैश, यहां है पूरी जानकारी

 

First published: 5 February 2020, 15:08 IST
 
पिछली कहानी
अगली कहानी