Home » राजनीति » Rajnath Singh: Some parties are policies One rank One pension issue
 

राजनाथ सिंह: जिन्होंने ओआरओपी लागू नहीं किया वही इस पर राजनीति कर रहे हैं

कैच ब्यूरो | Updated on: 7 November 2016, 11:57 IST
(एजेंसी)

उत्तर प्रदेश विधानसभा चुनावों के मद्देनजर भारतीय जनता पार्टी की ओर से आयोजित दूसरी परिवर्तन रैली में गृह मंत्री राजनाथ सिंह ने कांग्रेस समेत विपक्षी पार्टियों पर देश रक्षा के नाम खिलवाड़ करने और राजनीति करने का आरोप लगाया.

बीजेपी की यह रैली बुंदेलखंड इलाके में हुई. रैली में राजनाथ सिंह ने सेना के सर्जिकल स्‍ट्राइक की बात के साथ वन रैंक वन पेंशन को लेकर विपक्षी पार्टी कांग्रेस पर राजनीति करने का आरोप लगाया.

सेना के सर्जिकल स्ट्राइक की चर्चा करते हुए गृह मंत्री सिंह ने कहा "तुम पाकिस्‍तान हमारे बहादुर सैनिकों पर हमले करने के लिए आतंकी भेजते हो, लेकिन अब तुम निश्‍च‍ित रूप से समझ गए होगे कि हम तुमसे ना सिर्फ अपने आंगन में लड़ सकते हैं बल्कि तुम्‍हारे घर में घुस सकते हैं और तुम्‍हें हरा सकते हैं."

वहीं वन रेंक वन पेंशन (ओआरओपी) के मामले पर कांग्रेस के आलोचना का जवाब देते हुए राजनाथ सिंह ने कहा, "कुछ लोग ओआरओपी पर राजनीति कर रहे हैं. क्‍या उन सरकारों ने कभी इसे लागू किया? हमारी सरकार ने यह कर दिखाया, फिर भी सेना के जवानों का इस्‍तेमाल राजनीति के लिए हो रहा है."

इसके साथ ही सिंह ने कहा कि सेना का कोई भी जवान उसके नाम पर राजनीति नहीं चाहता. मैं उन सभी राजनेताओं से अपील करना चाहता हूं, कृपया उनके साथ राजनीति करना बंद करें जो हमारी सीमाओं की सुरक्षा करते हैं.

गौरतलब है कि ओआरओपी की मांग को लेकर पूर्व सैनिक रामकिशन ग्रेवाल के आत्महत्या के बाद कांग्रेस उपाध्यक्ष राहुल गांधी ने मोदी सरकार पर आरोप लगाया कि सरकार ने वन रैंक वन पेंशन के मामले में देश के सैनिकों से झूठ बोला है.

इसके अलावा राहुल गांधी ने हाल ही में किसानों के समर्थन में यूपी में लगभग एक महीने की किसान यात्रा पूरी की है.

उन्‍होंने राज्‍य के 403 विधानसभा क्षेत्रों में ज्‍यादातर का दौरा किया और किसानों की कर्जमाफी पर ध्‍यान केंद्रित किया. किसानों को किसान मांग पत्र भी भरने को कहा जिसमें उनकी कर्ज की राशि दर्ज हो.

बीजेपी की परिवर्तन यात्रा में पार्टी के राष्ट्रीय अध्‍यक्ष अमित शाह ने भी यूपी के सहारनपुर की रैली में किसानों की मदद की बात की थी. साथ ही शाह ने मुस्लिम समाज के तीन तलाक का मुद्दा भी उठाया था.

शाह ने कहा, "कुछ दिन पहले कुछ मुस्लिम महिलाओं ने अपने अधिकारों के लिए सुप्रीम कोर्ट का रुख किया है. अदालत ने हमसे तीन तलाक पर हमारा रुख पूछा है. हमने एक पल भी गंवाए बिना कहा है कि हम इसके खिलाफ हैं. कांग्रेस, बहुजन समाज पार्टी और समाजवादी पार्टी को तीन तलाक पर बोलने दीजिए, हमने तो इसके खिलाफ हलफनामा भी दायर कर दिया है."

First published: 7 November 2016, 11:57 IST
 
पिछली कहानी
अगली कहानी