Home » राजनीति » RJD chief lalu prasad yadav has denied wrongdoing after the CBI raids for alleged corruption in awarding of an IRCTC contract in 2006.
 

CBI रेड को लालू ने बताया मोदी-शाह और RSS की साज़िश

कैच ब्यूरो | Updated on: 7 July 2017, 14:12 IST
पीटीआई/ फ़ाइल फोटो

आरजेडी प्रमुख लालू प्रसाद यादव एक बार फिर नई मुसीबत में फंस गए हैं. केंद्रीय जांच एजेंसी (CBI) ने 2006 में रेलवे का होटल निजी कंपनी को देने के मामले में तत्कालीन रेल मंत्री लालू प्रसाद यादव के खिलाफ केस दर्ज कर लिया है.

सीबीआई के एडिशनल डायरेक्टर राकेश अस्थाना ने शुक्रवार को प्रेस कॉन्फ्रेंस कर बताया, "लालू प्रसाद यादव, राबड़ी देवी, तेजस्वी यादव, सरला गुप्ता और पीके गोयल के खिलाफ इस मामले में केस दर्ज किया गया है. इन लोगों के अलावा विनय कोचर और विजय कोचर पर भी केस दर्ज किया गया है."

इस छापेमारी के बाद लालू प्रसाद यादव ने इस मामले पर प्रतिक्रिया देते हुए कहा, "मैंने कोई गलती नहीं की है. इसमें सीबीआई के अफसरों का कोई दोष नहीं है. इसमें नरेंद्र मोदी, अमित शाह और आरएसएस का दोष है. जब छापेमारी हुई मैं कोर्ट जा रहा था, घर पर नहीं था. मुझे जानकारी हुई तो मैंने बीवी और बच्चों से कह दिया कि वे जो कागज मांगेंगे उन्हें दे दो. अफसर अपना काम कर रहे हैं और आप अपना काम करिए."

इस छापेमारी पर लालू ने कहा, "लालू यादव मिट्टी में मिल जाएंगे, लेकिन मोदी के खिलाफ हार नहीं मानेंगे." लालू ने कहा, "उन्हें फंसाने और मुकदमों से तोड़ने की कोशिश की जा रही है. भाजपा की 2019 की तैयारी है यह. उन्हें पता है कि बिहार में लालू मजबूत हैं, इसलिए हमें डराने के लिए सीबीआई भेज रहे हैं."

First published: 7 July 2017, 13:59 IST
 
पिछली कहानी
अगली कहानी