Home » राजनीति » RSS want to make dalit and muslim free india says asaduddin owaisi, owaisi makes comment on pm modi
 

'दलित और मुसलमान मुक्त भारत बनाना चाहता है RSS'

कैच ब्यूरो | Updated on: 23 January 2018, 11:47 IST

ऑल इंडिया मजलिस-ए-इत्तेहाद-उल मुसलमीन (एआईएमआईएम) के अध्यक्ष और सांसद असदुद्दीन ओवैसी ने आरएसएस पर बड़ा आरोप लगाया है. उन्होंने कहा कि आरएसएस देश को दलित-मुस्लिम मुक्त बनाना चाहता है. ओवैसी ने केंद्र की मोदी सरकार पर आरोप लगाते हुए कहा कि देश में हिंदुत्व विचाराधारा को थोपा जा रहा है.

ओवैसी महाराष्ट्र के औरंगाबाद के आम खास मैदान पर 40 हजार लोगों को संबोधित कर रहे थे. उन्होंने कहा कि संग परिवार की विचारधार और इनके गुरु गोलवरकर, हेडगेवार से लेकर सावरकर तक विचारधारा मुस्लिमों को हिंदू बनाने की है. उन्होंने कहा कि जरूरत है कि दलित-मुस्लिम आरएसएस के इस तरह के प्रयासों के खिलाफ एकजुट हों.

ओवैसी ने कहा कि मौजूदा दौर में मुसलमानों और दलितों को जागरुक रहने की जरूरत है. क्योंकि बीजेपी और संघ परिवार समाज में गड़बड़ी और कमजोर वर्ग को दबाने का काम कर रहे हैं. बीजेपी इस देश को मुस्लिम मुक्त बनाना चाहती हैं तो वहीं आरएसएस इस देश को दलित मुक्त बनाना चाहता है. ओवैसी ने कहा कि दलित मुस्लिम एकता संघ परिवार के उत्पीड़न और भेदभाव को रोकने के लिए समय की आवश्यकता है.

ओवैसी ने तीन तलाक विरोधी बिल का भी विरोध किया. उन्होंने कहा कि ये बिल मुस्लिम महिलाओं के खिलाफ है. इतना ही नहीं ये समानता के अधिकार के भी खिलाफ है, ऐसे दोषपूर्ण कानून की कोई जरूरत नहीं है. उन्होंने कहा कि तीन तलाक के जरिए महिलाओं को न्याय दिलाना तो एक बहाना है, निशाना तो शरीयत है.

इसके अलावा ओवैसी ने पीएम मोदी पर निशाना साधते हुए कहा कि मोदी को हर भारतीय के खाते में 15 लाख रुपए दिए जाने के कथित वादे की याद दिलाते हुए कहा कि आगामी बजट में तीन तलाक मिलने वाली महिलाओं को 15 हजार देने का प्रावधान होना चाहिए. उन्होंने तंज करते हुए कहा कि 15 लाख नहीं तो 15 हजार ही दे दो मित्रों.

First published: 23 January 2018, 11:47 IST
 
अगली कहानी