Home » राजनीति » RSS Woman In. Sec. told in India there is no marital rape concept
 

आरएसएस महिला शाखा की महासचिव ने कहा, 'भारत में नहीं होता मैरिटल रेप'

कैच ब्यूरो | Updated on: 7 February 2017, 8:23 IST
(एजेंसी)

राष्ट्रीय स्वयंसेवक संघ (आरएसएस) की महिला शाखा की महासचिव सीता आनंदम ने भारतीय समाज में मैरिटल रेप की अवधारणा को सिरे से खारिज कर दिया है.

उन्होंने कहा है कि भारतीय समाज में विवाह एक पवित्र बंधन हैं, जिसमें मैरिटल रेप जैसी चीज का कोई स्थान नहीं है.

सीता आनंदम ने यह बात अंग्रेजी समाचार पत्र इंडियन एक्सप्रेस के साथ बातचीत में कही. उन्होंने कहा, “मैरिटल रेप जैसी कोई चीज नहीं होती. हमारे यहां शादी एक पवित्र बंधन है. एक साथ रहते हुए परम सुख का अनुभव करना चाहिए. जहां सभी लोग इस बात को समझने लगे, तभी से सारी समस्याएं समाप्त हो जाएंगी.”

इसके अलावा उन्होंने महिलाओं संबधी कई अन्य मुद्दों पर भी बात की. उन्होंने कहा, “हमारे देश में आज महिलाओं के सामने सबसे बड़ी समस्या सुरक्षा, दहेज, शोषण, घूंघट और भ्रूण हत्या की है. घर में शराब पीने वाले पुरुष भी चिंता का विषय हैं. जो शख्स शराब में डूबा रहे वह घर की जिम्मेदारी नहीं उठा सकता. जिस वजह से सारी जिम्मेदारियां महिला के कंधे पर आ जाती है. पूरे देश में शराब पर बैन लगाना चाहिए.”

मुस्लिम समाज में तीन तलाक के मुद्दे पर अपने विचार व्यक्त करते हुए सीता आनंदम ने कहा कि हमारे समाज में सभी महिलाओं को एक समान न्याय और सम्मान मिलना चाहिए. किसी के साथ केवल धर्म के नाम पर भेदभाव और अन्याय नहीं होना चाहिए.

उन्होंने कहा, "हमने तीन तलाक के मुद्दे पर एक प्रस्ताव पारित किया है. महिलाओं की सुरक्षा के लिहाज से और समुदाय में जो कुछ चल रहा है, ऐसा होना चाहिए. समस्या समुदाय के अंदर पैदा हुई है और इसलिए इसका समाधान भी अंदर से आना चाहिए."

First published: 11 November 2016, 12:39 IST
 
पिछली कहानी
अगली कहानी