Home » राजनीति » Samajwadi Party MLC Ashu Malik wrote letter on Facebook post in favour of SP Supremo Mulayam Singh Yadav & opposed Udayveer singh controversial letter
 

बेटे अखिलेश के करीबी को पिता मुलायम के नजदीकी की नसीहत

पत्रिका ब्यूरो | Updated on: 21 October 2016, 16:34 IST

समाजवादी पार्टी में हुए दो फाड़ के बाद अब चिट्ठियों का दौर शुरू हो गया है. मुख्यमंत्री अखिलेश यादव के खास उदयवीर की चिट्ठी के जवाब में मुलायम सिंह यादव के बेहद करीबी एमएलसी आशु मलिक ने मुहतोड़ जबाव देते हुए आरोप लगाया है कि मौकापरस्त लोग पार्टी को नुकसान पहुंचा सकते हैं. जमीनी स्तर पर ऐसे लोगों को अपना वजूद देखना है तो वो लोकतात्रिंक तरीके से चुनाव लड़ें. मिलने वाले वोटों के आकड़े सारी सच्चाई को साफ कर देंगे.

आशु मलिक ने लेटर में लिखा कि कुछ लोगों की मत इतनी मारी गई है कि वो माननीय मुलायम सिंह पर ऊंगलियां उठाने लगे. इतिहास रचने वाले इस महापुरुष को ताने दिए जाएंगे. कुछ लोग जोश में अपना होश इतना खो देते हैं कि उनकी मत मारी जाती है. 

ऐसे लोग पार्टी की लोकतांत्रिक भावनाओं को आपसी कलह समझ रहे हैं. वह यह नहीं समझ पाा रहे हैं कि माननीय नेता जी और माननीय अखिलेश जी दोनों एक-दूूसरे को कितना प्यार करते हैं. एक-दूूसरे का कितना सम्मान करते हैं और दोनों पार्टी को किन बुलंदियों पर ले जाना चाहते हैं.

बाहरी व्यक्ति को परिवार के किसी भी मामले में दखल नहीं देना चाहिए

उन्‍होंने कहा कि जो व्यक्ति आज माननीय नेता जी का अपमान कर रहा है निश्चित रूप से वह कल माननीय मुख्यमंत्री जी का भी अपमान करेगा. यह सिर्फ और सिर्फ चापलूसी है किसी भी बाहरी व्यक्ति को परिवार के किसी भी मामले में दखल नहीं देना चाहिए.

एमएलसी का कहना

एमएमली आशु मलिक के मुताबिक ये दुर्भाग्य की बात है कि लोग माननीय जी और सीएम अखिलेश यादव के बीच खाई बनाना चाहते हैं. अगर पार्टी तुम्हें अच्छा सम्मान देती है और तुम उसके सम्मान को न समझकर इस तरीके की बात करते हो तो ये आपके व्यक्तित्व पर सवाल खड़ा करता है. वास्तविक मायने में हमारा वजूद समाजवादी पार्टी से जुड़ा हुआ है. ऐसे लोग जमीनी स्तर पर आएंगे तो इन्हें अपनी स्थिति का पता चल जाएगा.

First published: 21 October 2016, 16:34 IST
 
पिछली कहानी
अगली कहानी