Home » राजनीति » Shashi Tharoor says 'I will not withdraw any of my statements, instead those who attacked my office should tender an apology
 

शशि थरूर का पाकिसतान और हिंदुत्व तालिबान वाले बयान पर माफी मांगने से इनकार

कैच ब्यूरो | Updated on: 18 July 2018, 14:47 IST
(Filke photo )

कांग्रेस के विरष्ठ नेता और सांसद शशि थरूर ने कहा है कि वो हिंदुत्व को लेकर दिए गए अपने किसी भी बयान को वापस नहीं लेंगे. उन्होंने कभी देश को बांटने वाली बात नहीं की है. जिन लोगों ने मेरे ऑफिस पर हमला किया है. उनको मुझझे माफी मांगनी चाहिए. इससे पहले थरूर एक ट्वीट कर कहा था कि कुछ लोग नारेबाजी करते हुए मुझझे बोल रहे थे कि कि मैं पाकिस्तान चला जाऊं. इनको किसने ये अधिकार दे दिया कि ये तय करें कि मैं हिंदू नहीं हूं. कहीं हिंदू धर्म में भी तालिबानी हरकतें शुरू हो गई हैं क्या.

एएनआई की खबर के मुताबिक, देश को तोड़ने वाले एक सवाल के जबाव में थरूर ने कहा कि उन्होंने कभी देश को तोड़ने वाली बात नहीं की है. अगर आप एक मजहब के लिए देश बनाएंगे तो वो देश तोड़ सकता है, लेकिन जब सब लोग एक साथ रह सकेंगे, तो देश कैसे टूट सकता है. वहीं, जब उनसे पूछा गया कि कुछ लोग कह रहे हैं कि थरूर पाकिस्तानी है, तालिबानी है. उनको माफी मांगनी चाहिए. इसके जवाब में उन्होंने कहा कि मुझे नहीं पता कौन लोग ऐसा बोल रहे हैं. मैं किताब लिख रहा हूं. उसको पढ़ लेना. मैं अपने किसी भी बयान को वापस नहीं लूंगा. मेरे ऑफिस पर हमला करने वालों को मुझझे माफी मांगनी चाहिए.

आपको बता दें कि सोमवार को थरूर के निर्वाचन क्षेत्र तिरुवनंतपुरम स्थित उनके ऑफिस में कुछ उपद्रवियों ने जमकर तोड़फोड़ करते हुए नारेबाजी की थी. इसको लेकर थरूर ने बुधवार को ट्वीट कर कहा कि उन लोगों ने मेरे ऑफिस पर हमला करते हुए नारेबाजी की. मुझझे कहा कि मैं पाकिस्तान चला जाऊं. उनको ये तय करने का अधिकार किसने दे दिया कि मैं हिंदू नहीं हूं. वो कौन लोग हैं जो ये कह रहे हैं कि मुझे देश में रहने का अधिकार नहीं है. क्या हिंदू धर्म में भी तालिबानी हरकतें शुरू हो गई हैं.

आपको बता दें कि सोमवार को कुछ लोगों ने थरूर के निर्वाचन क्षेत्र तिरुवनंतपुरम स्थित उनके ऑफिस में तोड़फोड़ कर दी. उनके ऑफिस की दीवारों पर काला ऑयल फेंक दिया. उन्होंने आरोप लगाते हुए कहा था कि 'लोग अपनी समस्याएं लेकर आते हैं लेकिन आप उन्हें डराकर भगा देते हैं. क्या ये सही है. क्या आप देश में यही होना चाहते हैं. जहां तक मैं जानता हूं कि यह हिंदुत्व नहीं है'.

 आपको बता दें कि सोमवार को थरूर के निर्वाचन क्षेत्र तिरुवनंतपुरम स्थित उनके ऑफिस में कुछ उपद्रवियों ने जमकर तोड़फोड़ करते हुए नारेबाजी की थी. इसको लेकर थरूर ने बुधवार को ट्वीट कर कहा कि उन लोगों ने मेरे ऑफिस पर हमला करते हुए नारेबाजी की. मुझझे कहा कि मैं पाकिस्तान चला जाऊं. उनको ये तय करने का अधिकार किसने दे दिया कि मैं हिंदू नहीं हूं. वो कौन लोग हैं जो ये कह रहे हैं कि मुझे देश में रहने का अधिकार नहीं है. क्या हिंदू धर्म में भी तालिबानी हरकतें शुरू हो गई हैं.

आपको बता दें कि सोमवार को कुछ लोगों ने थरूर के निर्वाचन क्षेत्र तिरुवनंतपुरम स्थित उनके ऑफिस में तोड़फोड़ कर दी. उनके ऑफिस की दीवारों पर काला ऑयल फेंक दिया. उन्होंने आरोप लगाते हुए कहा था कि 'लोग अपनी समस्याएं लेकर आते हैं लेकिन आप उन्हें डराकर भगा देते हैं. क्या ये सही है. क्या आप देश में यही होना चाहते हैं. जहां तक मैं जानता हूं कि यह हिंदुत्व नहीं है'.

ये भी पढ़ें-   शशि थरुर ने हिंदुत्व को लेकर दिया एक और विवादित बयान, तालिबान से की तुलना

First published: 18 July 2018, 14:47 IST
 
पिछली कहानी
अगली कहानी