Home » राजनीति » Shiv Sena calls patriot who fired on Omar Khalid, gave assembly ticket
 

उमर खालिद पर गोली चलाने वाले को शिवसेना ने बताया देशभक्त, दिया विधानसभा टिकट

कैच ब्यूरो | Updated on: 9 October 2019, 9:23 IST
(उमर खालिद द्वारा ट्विटर पर शेयर की गई तस्वीर)

गौ रक्षक नवीन दलाल को हरियाणा विधानसभा चुनावों में शिवसेना ने टिकट दिया है. नवीन दलाल पर पिछले साल जेएनयू के पूर्व छात्र उमर खालिद पर हमला करने का आरोप है. एक रिपोर्ट के अनुसार नवीन दलाल ने कहा कि वह छह महीने पहले शिवसेना में शामिल हुआ. क्योंकि राष्ट्रवाद और गौ रक्षा पर उनकी विचारधाराएं मेल खाती हैं. एक रिपोर्ट के अनुसार दलाल ने कहा "हम एक ही लड़ाई लड़ रहे हैं. राष्ट्रवाद, गोरक्षा और अपने स्वतंत्रता सेनानियों की लिए पहचान के लिए. बीजेपी और कांग्रेस की सरकारों का किसानों, शहीदों, गायों या गरीबों से कोई लेना-देना नहीं है. वे सिर्फ राजनीति में रुचि रखते हैं.”

शिवसेना के हरियाणा (दक्षिण) प्रमुख विक्रम यादव ने कहा “वह गोरक्षा जैसे मुद्दों पर लड़ रहा है और राष्ट्र विरोधी नारे लगाने वालों के खिलाफ बोल रहा है. इसलिए हमने उसे चुना है.” अगस्त 2018 में दलाल और दरवेश शाहपुर, कथित तौर पर नई दिल्ली में कॉन्स्टिट्यूशन क्लब के बाहर खालिद को गोली मारने की असफल कोशिश में शामिल थे. बंदूक की गोली से खालिद बच गए थे. दलाल और शाहपुर फरार हो गए लेकिन बाद में उन्हें गिरफ्तार कर लिया गया. दलाल फिलहाल इस मामले में जमानत पर है और मामला सत्र अदालत के समक्ष लंबित है.

शिवसेना के एक नेता ने दलाल का बचाव करते हुए कहा कि यह देशभक्ति दिखाने का उनका तरीका था. "उसका खालिद के साथ व्यक्तिगत मुद्दा नहीं था. वह परेशान था कि इन लोगों ने राजधानी में एक विश्वविद्यालय में भारत विरोधी नारे लगाए थे. वह इस बात से भी नाराज थे कि उनके खिलाफ कोई कार्रवाई नहीं हुई. इसलिए नवीन के नजरिए से यह उनकी देशभक्ति दिखाने का एक तरीका था.

अपने चुनावी हलफनामे में दलाल ने कहा है कि उसके खिलाफ तीन आपराधिक मामले लंबित हैं, जिसमें खालिद पर हमले के संबंध में दिल्ली पुलिस की स्पेशल सेल की एफआईआर भी शामिल है. सूचीबद्ध दो अन्य मामले 2014 के हैं. बहादुरगढ़ में एक एफआईआर आईपीसी (दंगा) की धारा 147/149 के तहत और दूसरी दिल्ली के पार्लियामेंट स्ट्रीट पुलिस स्टेशन के साथ एक गंभीर गाय के सिर के साथ भाजपा के मुख्य कार्यालय में मार्च करना शामिल है.

First published: 9 October 2019, 9:11 IST
 
पिछली कहानी
अगली कहानी