Home » राजनीति » Shivpal yadav: I do not want to become a chief minister
 

शिवपाल यादव: कभी मुख्यमंत्री बनने की इच्छा नहीं थी

कैच ब्यूरो | Updated on: 28 October 2016, 10:44 IST
(एजेंसी)

उत्तर प्रदेश समाजवादी पार्टी के अध्यक्ष और पार्टी के वरिष्ठ नेता शिवपाल यादव ने गुरुवार को कहा कि उनके मन में कभी भी मुख्यमंत्री बनने की बात या इस तरह की महत्वाकांक्षा नहीं थी.

इसके अलावा शिवपाल ने जोर देते हुए कहा कि वह हमेशा अपने बड़े भाई और पार्टी के राष्ट्रीय अध्यक्ष मुलायम सिंह यादव के 'अनुशासित सिपाही' बने रहेंगे.

अपने भतीजे अखिलेश यादव के कैबिनेट से बर्खास्त होने वाले शिवपाल ने कहा, "मैंने कभी भी नहीं चाहा कि मुख्यमंत्री बनूं. अगर मैं चाहता तो मैं 2003 में बन गया होता, लेकिन मैंने मुलायम सिंह यादव का समर्थन किया था और वह उत्तर प्रदेश के मुख्यमंत्री बने थे."

शिवपाल ने कहा कि सपा की राज्य इकाई का अध्यक्ष भले ही रहूं या न रहूं लेकिन हमेशा नेताजी का अनुशासित सिपाही बना रहूंगा.

उन्होंने कहा, "उत्तर प्रदेश में भाजपा को सत्ता में न आने के लिए हमें भी बिहार चुनाव की तरह धर्मनिरपेक्ष दलों का एक ‘महागठबंधन’ बनाना पड़ेगा और हम इस दिशा में काम कर रहे हैं."

गौरतलब है कि मुलायम सिंह यादव के परिवार में मचा घमासान दिन-प्रतिदिन बढ़ता ही जा रहा है. सत्ता की बाजीगरी में पिता मुलायम और पुत्र अखिलेश एक दूसरे को शह-मात देने के चक्कर में लगे हुए हैं.

सपा प्रमुख मुलायम सिंह यादव की इच्छा है कि सपा प्रदेश अध्यक्ष शिवपाल यादव की अखिलेश सरकार में दोबारा वापसी हो और मंत्री बनें. हालांकि इसके साथ मुलायम यह भी कह चुके हैं कि मैं इसका फैसला मुख्यमंत्री पर छोड़ता हूं.

दरअसल अखिलेश यादव पार्टी से निकाले गए पूर्व राष्ट्रीय महासचिव प्रोफेसर रामगोपाल यादव की वापसी चाहते हैं, लेकिन बताया जा रहा है कि नेता जी इसके बिल्कुल खिलाफ हैं और रामगोपाल को पार्टी में वापस न लेने के लिए अड़े हैं.

First published: 28 October 2016, 10:44 IST
 
पिछली कहानी
अगली कहानी