Home » राजनीति » Shri Shri Ravishankar: People free to eat everything, but open animal killing is not right
 

श्री श्री रविशंकर: लोग जो चाहे खाएं, लेकिन खुलेआम पशुओं को मारना ठीक नहीं

कैच ब्यूरो | Updated on: 4 June 2017, 14:38 IST
Shri Shri Ravishankar

आर्ट ऑफ लिविंग के संस्थापक और आध्यात्मिक गुरु श्री श्री रविशंकर ने गोहत्या पर लगाई गई पाबंदी पर केंद्र सरकार का समर्थन किया है.

हिंदी मैग्जीन इंडिया टुडे को दिए गए इंटरव्यू में श्री श्री ने कहा कि लोग जो चाहे खा सकते हैं, लेकिन खुलेआम जानवरों को मारा जाना कहीं से भी सही नहीं हो सकता है.

रविशंकर ने केंद्र सरकार के उस बदलाव का भी समर्थन किया जिसके जरिये पशुओं को काटने के बेचने पर पाबंदी लगा दी गई थी.

बीफ को लेकर पूरे देश में हो रहे विवादों पर रविशंकर ने पहली बार कुछ कहा है. पिछले महीने से यह विवाद ज्यादा बढ़ा है.

रविशंकर ने कहा कि हत्या के लिए जानवरों को बेचने पर पाबंदी लगाई गई क्योंकि मवेशियों की संख्या तेजी से गिर रही है.

रविशंकर ने आगे कहा कि नए नियमों में किसी को खाना खाने से नहीं रोका गया. उन्होंने तमिलनाडु का उदाहरण देते हुए कहा कि वहां पहले 85 तरह के मवेशी थे लेकिन अब सिर्फ दो तरह के रह गए हैं.

रविशंकर ने कहा कि ऐसा बैन सिर्फ भारत में ही नहीं लगा. क्यूबा में भी मवेशी नहीं मारे जाते. मद्रास हाईकोर्ट द्वारा केंद्र के फैसले पर लगाई गई रोक पर रविशंकर ने कहा कि कोर्ट किसी भी तरह की राजनीति से ऊपर होता है और उसके फैसले का सम्मान करना चाहिए.

रविशंकर ने कहा कि वह जानवरों पर होने वाले अत्याचार के खिलाफ हैं.

First published: 4 June 2017, 14:38 IST
 
पिछली कहानी
अगली कहानी