Home » राजनीति » Sidhu: BJP choose alliance and I have chosen Punjab
 

सिद्धू वाणी: कांग्रेसी 'पंजे' से पंजाब की चुनावी पिच पर सिद्धू, 10 बड़ी बातें

कैच ब्यूरो | Updated on: 16 January 2017, 12:19 IST
(एएनआई)

पूर्व क्रिकेटर नवजोत सिंह सिद्धू कभी बीजेपी के लिए बैटिंग करते थे, लेकिन पंजाब चुनाव की पिच पर वो अब कांग्रेस के लिए चौके-छक्के लगाते नजर आएंगे. जुबानी जुगलबंदी के लिए मशहूर नवजोत सिंह सिद्धू दिल्ली में अपने चिर-परिचित अंदाज़ में नज़र आए. 

सिद्धू ने इस दौरान कांग्रेस में शामिल होने पर तर्क रखे, वहीं भाजपा और शिरोमणि अकाली दल के खिलाफ कांग्रेसी पंजे के साथ ताल ठोकी. एक नजर उनकी प्रेस कॉन्फ्रेंस की अहम बातों पर:  

10 बड़ी बातें

1. आई एम ए बॉर्न कांग्रेसमैन. मेरी घर वापसी हुई है. अपनी जड़़ों की तरफ वापस लौटा हूं. मेरे पिता ने 40 साल कांग्रेस की सेवा की. मुझे फर्क नहीं पड़ता कि लोग क्या कहेंगे.

2. लोग कहते हैं कि सिद्धू पार्टी को मां कहता था लेकिन मां तो कैकेयी भी थी. और एक मां तो कौशल्या भी थी. सबको पता है मंथरा कौन है पंजाब में. 

3. पार्टियां अच्छी या बुरी नहीं होतीं, उनको चलाने वाले अच्छे-बुरे होते हैं. भाग बाबा बादल भाग, कुर्सी खाली कर पंजाब की जनता आती है. पंजाब के हालात ऐसे हैं कि इस पर फिल्में बन रही हैं. 

4. ड्रग्स पंजाब की हकीकत है. युवाओं की जिंदगी बर्बाद हो चुकी है. पंजाब को ड्रग्स का कारोबार करने वाले चला रहे हैं.

5. पंजाब हरित क्रांति के लिए जाना जाता था. आज सफेद चिट्टे (ड्रग्स) के लिए जाना जाता है. हम ड्रग्स के खिलाफ सख्त कानून बनाएंगे. अकाली दल एक पवित्र जमात था अब जायदाद बन गया है. राज्य सरकार के खजाने को लूट लिया गया. पंजाब पर दो लाख करोड़ रुपये का कर्ज हो गया. तुम धंधा करते हो. मैं बेनकाब करूंगा. मैं तुम्हारी पोल खोलूंगा.

6. अगर दो राष्ट्र मिल-बैठकर मुद्दों का निपटारा कर सकते हैं तो दो व्यक्ति (कैप्टन अमरिंदर सिंह और सिद्धू) क्यों नहीं ऐसा कर सकते हैं. जब लालू और नीतीश एक हो सकते हैं तो हम क्यों नहीं. मैं किसी के साथ काम करने को तैयार हूं.

7. मैंने बीजेपी को नहीं छोड़ा. बीजेपी को पंजाब और एलायंस में से एक को चुनना था. सिद्धू ने पंजाब को चुना बीजेपी ने अलायंस को चुना. 

8. 2014 में मुझे सुरक्षित सीट का प्रस्ताव दिया गया था, लेकिन मैं अमृतसर छोड़ने को तैयार नहीं था. सिद्धू भगोड़ा होने के लिए तैयार नहीं था. 

9. जो कांग्रेस हाईकमान कहेगा, वो करूंगा. जहां से कांग्रेस पार्टी कहेगी वहां से चुनाव लड़ूंगा. पंजाब को बचाने के लिए लड़ रहा हूं. पंजाब और पंजाबियत को बचाने की लड़ाई है.

10. पंजाब की फिक्र कर नादां, मुसीबत आने वाली है. तेरी बर्बादियों के मशवरे हैं आसमानों में. अब भी न संभले  तो तुम्हारी दास्तां तक न होगी दास्तानों में.

First published: 16 January 2017, 12:19 IST
 
पिछली कहानी
अगली कहानी