Home » राजनीति » Swati Maliwal announces break her indefinite hunger strike after Union Cabinet approved Ordinance Death Penalty For Child Rape
 

स्वाति मालीवाल का अनशन खत्म करने का ऐलान, लेकिन मोदी को दी बड़ी चेतावनी

कैच ब्यूरो | Updated on: 21 April 2018, 19:57 IST

दिल्ली महिला आयोग (डीसीडब्ल्यू) की प्रमुख स्वाति मालीवाल ने रविवार को भूख हड़ताल तोड़ने का ऐलान किया है. केंद्र सरकार की कैबिनेट द्वारा पोस्को एक्ट में 12 साल से कम उम्र की लड़कियों से रेप करने वाले को मौत की सजा दिये जाने वाले अध्यादेश को मंजूरी देने के बाद ये फैसला लिया.  

स्वाति मालीवाल ने प्रेस कॉन्फ्रेंस कर जानकारी दी कि उनकी सारी मांगे केंद्र सरकार ने मांग ली है. वो रविवार दोपहर 2 बजे अपना अनशन तोड़ेंगी. उन्होंने कैबिनेट की पहल पर पीएम मोदी का आभार भी जताया. इसके साथ ही उन्होंने पीएम मोदी को चेतावनी दी कि अगर तीन महीने में सरकार अपना वादा नहीं पूरा करेगी तो वह इससे भी कठिन अनशन पर बैठेंगी. स्वाति मालीवाल के अनशन का आज नौंवा दिन है. उन्होंने केजरीवाल की सलाह पर अपना अनशन तोड़ने से इनकार कर दिया था.

ये भी पढ़ें- मोदी सरकार ने POCSO एक्ट में किया बदलाव, रेप पर मिलेगी मौत की सजा

उन्होंने आगे कहा, "अभी अभी केंद्र सरकार ने जो कानून पास किया है उसकी कॉपी मुझे मिली है. छोटी बच्चियों के बलात्कारियों को फांसी दी जाएगी, हमारी सारी मांगे मान ली गई हैं. मैं पीएममोदी की आभारी हूं कि उन्होंने अपनी इस जिद्दी बेटी की बात मान ली. उन्होंने देश हित में यह ऐतिहासिक फैसला लिया है. शायद ही किसी आंदोलन को इतने कम समय में जीत मिली है, यह पूरे देश की जीत है. अब मैंने निर्णय लिया है कि कल (रविवार को) दोपहर 2 बजे मैं अपना अनशन समाप्त करूंगी. पीएम से बात नहीं हुई है इसलिए कल अनशन तोड़ूंगी. जो वादा किया है वह अगर तीन महीने में पूरा नहीं होता है तो इससे भी बड़ा अनशन करूंगी". 

क्‍या कहता है कानून 

किसी महिला से बलात्‍कार करने पर दोषी को सात से दस साल तक की कठोर कारावास की सजा जिसे उम्रकैद तक बढ़ाया जा सकता है.  पीड़िता की उम्र 16 साल से कम है तो दोषी को 10 से 20 साल तक की सजा जो उम्रकैद तक बढ़ाई जा सकती है. उम्रकैद की सजा का मतलब जब तक वह शख्‍स जीवीत रहेगा तब तक जेल में ही रहेगा. 

इसके अलावा 12 साल से कम उम्र की बच्‍ची का रेप होता है तो दोषी को उम्रकैद से लेकर फांसी की सजा हो सकता है और ऐसे मामलों की जांच जल्‍द की जाएगी और ट्रायल भी तेजी से पूरा किया जाएगा. इससे पहले राजस्थान, मध्यप्रदेश और हरियाणा में भी ये कानून पारित हो चुका है.

ये भी पढ़ें- VIDEO: महिला के घर से बाहर निकलने पर रेप होता है, लेकिन मोदी को विदेश घूमने का शौक है- रेणुका चौधरी

First published: 21 April 2018, 19:57 IST
 
अगली कहानी