Home » राजनीति » Tamil Nadu: CM Palanisamy wins vote of confidence
 

तमिलनाडु: पलानीस्वामी ने जीती बहुमत की जंग, 122 विधायकों ने किया समर्थन

कैच ब्यूरो | Updated on: 18 February 2017, 4:32 IST
(एएनआई)

तमिलनाडु विधानसभा में भारी हंगामे के बीच सीएम पलानीस्वामी ने बहुमत हासिल कर लिया है. दिन भर चले नाटकीय घटनाक्रम के बाद एआईएडीएमके विधायक दल के नेता ई पलानीस्वामी ने विश्वास मत हासिल किया. उन्हें सदन में कुल 122 विधायकों का समर्थन मिला. बहुमत हासिल करने के लिए पलानीस्वामी को 117 विधायकों के समर्थन की जरूरत थी. 

तमिलनाडु विधानसभा में कुल 234 विधायक हैं. लेकिन जयललिता की सीट खाली है और करुणानिधि तबीयत खराब होने की वजह से नहीं पहुंचे थे. गुरुवार को ही पलानीस्वामी ने राज्य के मुख्यमंत्री की शपथ ली थी. दो महीने में वह राज्य के तीसरे मुख्यमंत्री हैं. विधानसभा में डीएमके के 98 विधायक हैं. पलानीसामी के बहुमत हासिल करने के बावजूद शनिवार का दिन लोकतंत्र को शर्मसार करने वाला रहा.

सदन में महाभारत

सदन की कार्यवाही शुरू होते ही भारी हंगामा खड़ा हो गया. मुख्य विपक्षी पार्टी डीएमके विधायकों ने गुप्त मतदान की मांग की, जिसे स्पीकर ने खारिज कर दिया. इसके बाद डीएमके विधायकों ने हंगामा और तोड़फोड़ शुरू कर दी. 

स्पीकर के सामने रखी कई कुर्सियों और टेबल तक तोड़ दी गई. कथित रूप से डीएमके के विधायकों ने स्पीकर से धक्का-मुक्की करते हुए उनकी शर्ट तक फाड़ दी. साथ ही उनका माइक भी तोड़ दिया. इस दौरान डीएमके के एक विधायक कुका सेल्वम ने स्पीकर की कुर्सी पर कब्जा जमा लिया. 

स्टालिन ने शर्ट फाड़ने का लगाया आरोप

डीएमके के कार्यकारी अध्यक्ष एमके स्टालिन ने सदन से बाहर निकलते हुए आरोप लगाया कि पुलिस ने जबरदस्ती उनके विधायकों से विधानसभा परिसर से बाहर कर दिया. स्टालिन का आरोप है कि इस दौरान उनकी शर्ट फाड़ दी गई. 

स्टालिन ने कहा, "स्पीकर ने खुद अपनी शर्ट फाड़ ली और उन्होंने हमारी पार्टी के विधायकों पर झूठा आरोप लगाया है. हमें कहा गया कि सदन की कार्यवाही तीन बजे शुरू होगी, लेकिन दो बजे ही पुलिस आई और हमें जबरन वहां से हटाने लगी. मेरी शर्ट भी फाड़ दी गई."

ट्विटर

स्पीकर ने कहा- मेरी शर्ट फाड़ी

तमिलनाडु असेंबली के स्पीकर पी धनपाल का कहना है, "मेरे साथ बदसलूकी करते हुए मेरी शर्ट फाड़ दी गई. जिसके बाद मैंने सदन की बैठक दोबारा बुलाई. नियमों के हिसाब से ही सदन की कार्यवाही चल सकती है." 

कांग्रेस पार्टी ने शक्ति परीक्षण का बायकॉट करते हुए मत विभाजन के दौरान वॉक आउट किया. तमिलनाडु विधानसभा के लिए आज का दिन शर्मनाक रहा और लोकतंत्र के इतिहास में एक काला अध्याय जुड़ गया. 

सदन में डीएमके विधायकों और मार्शल के बीच झड़प देखने को मिली. वहीं पलानीसामी के विश्वास मत हासिल करने के साथ ही पन्नीरसेल्वम खेमे के लिए फिलहाल रास्ता बंद नज़र आ रहा है. पन्नीरसेल्वम ने मांग की थी कि पहले पार्टी के विधायक अपने क्षेत्र में जाएं और जनता की राय जानने के बाद विश्वास प्रस्ताव पर वोटिंग हो, लेकिन उनकी मांग को ख़ारिज कर दिया गया.

आज का घटनाक्रम

  • डीएमके ने सीक्रेट बैलट (गुप्त मतपत्र) से मतदान की मांग की.
  • स्पीकर ने गुप्त मतदान की मांग को खारिज किया, विपक्ष का हंगामा.
  • सदन में भारी हंगामा और तोड़फोड़, डीएमके विधायक स्पीकर की कुर्सी पर बैठे.
  • स्पीकर के ठीक सामने वाली टेबल-कुर्सियां तोड़ी गईं.
  • डीएमके विधायकों के हंगामे के बाद भारी पुलिसबल सदन परिसर में भेजा गया.
  • विधानसभा को 1 बजे तक के लिए स्थगित किया गया.
  • हंगामे के बाद स्पीकर विधानसभा से बाहर निकले.
  • विधानसभा के प्रेस कक्ष में रखे ऑडियो स्पीकर का कनेक्शन काटा गया.
  • पन्नीरसेल्वम की स्पीकर से मांग- शक्ति परीक्षण से पहले विधायक अपने क्षेत्र में जाएं.
  • इलाके की जनता का मन जानने के बाद फ्लोर टेस्ट कराया जाए.
  • हंगामे के बाद तमिलनाडु विधानसभा दोबारा तीन बजे तक के लिए स्थगित.
  • विधानसभा के बाहर 2 हजार से ज्यादा पुलिसकर्मी तैनात.
  • दोपहर तीन बजे विधानसभा की कार्यवाही दोबारा शुरू. 
  • सदन के अंदर छह डिवीजन में बैठे विधायकों ने विश्वास प्रस्ताव का समर्थन किया.
  • सीएम ई पलानीस्वामी ने हासिल किया विश्वास मत, 122 विधायकों का मिला समर्थन. 
  • डीएमके के कार्यकारी अध्यक्ष एमके स्टालिन फटी शर्ट में बाहर निकले. 
  • स्टालिन ने पुलिस के जरिए जबरन विधानसभा परिसर से निकालने का लगाया आरोप. 
  • एमके स्टालिन ने राज्यपाल विद्या सागर राव से की मुलाकात.
एएनआई
First published: 18 February 2017, 4:32 IST
 
पिछली कहानी
अगली कहानी