Home » राजनीति » confidential meeting between CM Panneerselvam and Sasikala
 

चेन्नई: पोएस गार्डन में सीएम पन्नीरसेल्वम और शशिकला के बीच गुप्त बैठक

कैच ब्यूरो | Updated on: 9 December 2016, 14:29 IST
(एजेंसी)

तमिलनाडु के नए मुख्यमंत्री ओ. पन्नीरसेल्वम ने गुरुवार को दिवंगत पूर्व मुख्यमंत्री जयललिता की सबसे खास सहयोगी शशिकला से मुलाकात की. बताया जा रहा है कि दोनों के बीच यह मुलाकात पोएस गार्डन में हुई, जो जयललिता का आधिकारिक आवास हुआ करता था. शशिकला अभी भी उसी घर में रह रही हैं.

शशिकला से मुलाकात के दौरान सीएम पन्नीरसेल्वम के साथ उनकी कैबिनेट के वरिष्ठ मंत्री सी. श्रीनिवासन और ई. पलानीस्वामी के अलावा पी. थंगमणि भी मौजूद थे. बैठक में क्या बातचीत हुई, उसका ब्यौरा नहीं मिल पाया है.

खबरों के मुताबिक यह मुलाकात लगभग दो घंटे तक चली. बैठक खत्म होने के बाद सीएम पन्नीरसेल्वम ने मीडिया से कोई बातचीत नहीं की और चुपचाप वहां से चले गए. जयललिता की मौत के बाद पिछले दो दिन में शशिकला और पन्नीरसेल्वम के बीच यह दूसरी मुलाकात है.

सूत्रों के मुताबिक 5 दिसंबर को शशिकला की पहल पर ही पन्नीरसेल्वम को बतौर सीएम पद की शपथ दिलाई गई थी. जयललिता तमिलनाडु की सीएम रहने के साथ ही एआईएडीएमके पार्टी की प्रमुख भी थीं.

जयललिता की मृत्यु के बाद पन्नीरसेल्वम को सीएम तो बना दिया गया है, लेकिन सबसे बड़ा प्रश्न अभी भी खड़ा है कि पार्टी की कमान किसके हाथों में होगी.

सियासी जानकारों के मुताबिक ज्यादा उम्मीद तो यही है कि जयललिता के नहीं रहने पर पार्टी की कमान शशिकला के हाथों में ही होगी, क्योंकि जया के निधन के बाद शशिकला ने जिस तरह से उनके अंतिम संस्कार की परंपराएं निभाईं, वो साफ दर्शाता है कि शशिकला आज की तारीख में एआईएडीएमके में सबसे मजबूत हैं.

जहां पन्नीरसेल्वम के सामने सरकार को चलाने की चुनौती होगी, वहीं शशिकला को पार्टी चलाने की. सूत्रों के मुताबिक, शशिकला भी पार्टी पर अपना एकाधिकार चाहती हैं. इसलिए भविष्य में वो पन्नीरसेल्वम की राह में मुश्किलें भी खड़ी कर सकती है, क्योंकि सेल्वम के पास रामचंद्रन या जयललिता जैसी करिश्माई छवि भी नहीं है.

जानकारों का मानना है कि पन्नीरसेल्वम भले ही मुख्यमंत्री बनने में कामयाब रहे हैं, लेकिन पार्टी पर उनकी पकड़ मजबूत नहीं है. जिसकी वजह से पार्टी की कमान शशिकला संभालेंगी.

बताया रहा है कि पार्टी के अंदर पनन्नीरसेल्वम की जगह शशिकला के वफादारों की संख्या बड़ी है. इसलिये हो सकता है कि आने वाले भविष्य में पार्टी पर दबदबे को लेकर पन्नीरसेल्वम और शशिकला के बीच जंग भी हो सकती है.

First published: 9 December 2016, 14:29 IST
 
पिछली कहानी
अगली कहानी