Home » राजनीति » Tejaswi Yadav the Bihar deputy CM will not resign after CBI raids row
 

बिहार के डिप्टी सीएम तेजस्वी यादव नहीं देंगे इस्तीफ़ा

कैच ब्यूरो | Updated on: 10 July 2017, 14:33 IST
तेजस्वी यादव, प्रेमचंद गुप्ता और लालू यादव/ फाइल फोटो

बिहार में लालू यादव और उनके परिवार के ठिकानों पर सीबीआई छापे के बाद से मचे घमासान के बीच पटना में राष्ट्रीय जनता दल की अहम बैठक हुई. छापों के बाद विपक्षी पार्टी खासकर भाजपा ने तेजस्वी यादव के नीतीश सरकार से इस्तीफ़े की मांग की थी. हालांकि राजद की बैठक में फैसला लिया गया है कि तेजस्वी यादव डिप्टी सीएम के पद से इस्तीफ़ा नहीं देंगे.

सीबीआई छापों पर नीतीश की चुप्पी के बाद से महागठबंधन पर सवाल उठ रहे थे. महागठबंधन के अहम सहयोगी राजद और जेडीयू के बीच संबंध पहले की तरह नहीं बताए जा रहे हैं. पटना में राजद सुप्रीमो लालू प्रसाद यादव के आवास पर विधायक दल की बैठक हुई. दो घंटे तक चली इस बैठक में लालू के अलावा तेजस्वी यादव और पार्टी के लगभग सभी 80 विधायक मौजूद रहे.

राजद की बैठक में तय हुआ है कि भाजपा और आरएसएस के खिलाफ संघर्ष जारी रखा जाएगा. 27 अगस्त को पटना के गांधी मैदान में राजद ने एक बड़ी रैली आयोजित की है. सभी नेताओं को निर्देश दिए गए कि इसे सफल बनाने के लिए पार्टी के नेता अभी से जी-जान से जुट जाएं.

नीतीश ने लालू से की बात

पार्टी की बैठक के बारे में एक राजद नेता ने कहा कि सीबीआई छापों पर मुख्यमंत्री नीतीश कुमार ने लालू यादव से बातचीत की है. रविवार को नीतीश ने लालू से इस मुद्दे पर बात की. छापों के वक्त नीतीश स्वास्थ्य लाभ के लिए पटना से दूर राजगीर गए हुए थे. हालांकि अब वो पटना लौट आए हैं.

राजद की बैठक में 17 जुलाई को होने वाले राष्ट्रपति चुनाव पर भी चर्चा हुई. इस दौरान देश के ताजा हालात पर भी चर्चा हुई. राजद नेता अब्दुल बारी सिद्दीकी ने कहा कि देश में अभी घृणा का माहौल है. ऐसे वक्त में मोदी सरकार के ख़िलाफ़ आवाज़ उठाना गुनाह हो गया है. राजद विधायक अरुण यादव का कहना है कि तेजस्वी यादव को इस्तीफ़ा नहीं देना चाहिए. उन्हें बिहार का मुख्यमंत्री बनाया जाना चाहिए.

गौरतलब है कि सीबीआई ने रेलवे होटल टेंडर मामले में कथित गड़बड़ी को लेकर तेजस्वी यादव के अलावा लालू यादव, राबड़ी देवी, राजद नेता प्रेमचंद गुप्ता की पत्नी सरला गुप्ता समेत कई लोगों के खिलाफ धोखाधड़ी और आपराधिक साजिश का केस दर्ज किया है. ये टेंडर लालू के रेल मंत्री रहते हुए दिए गए थे. वहीं ईडी ने लालू की बेेटी मीसा भारती और दामाद शैलेश के दिल्ली स्थित फार्म हाउस समेत तीन ठिकानों पर छापेमारी की थी.

First published: 10 July 2017, 14:33 IST
 
पिछली कहानी
अगली कहानी