Home » राजनीति » The logic of Satyapal support Ram Madhav, misinterpreting the theory of Darwin
 

डार्विन के सिद्धांत को गलत बताने वाले सत्यपाल सिंह के समर्थन में सुनिए राम माधव का तर्क

कैच ब्यूरो | Updated on: 21 January 2018, 16:17 IST

मोदी सरकार के मंत्री सत्यपाल सिंह के उस बयान का बीजेपी नेता राम माधव ने समर्थन किया है जिसमे उन्होंने कहा था कि डार्विन गलत थे क्योंकि किसी ने बंदर को इंसान में बदलते नहीं देखा.

एक कार्यक्रम के दौरान केंद्रीय मानव संसाधन विकास राज्यमंत्री सत्यपाल सिंह ने कहा ''मनुष्यों के क्रमिक विकास का चार्ल्स डार्विन का सिद्धांत वैज्ञानिक रूप से ग़लत है. स्कूलों और कॉलेजों के सिलेबस में इसे बदलने की ज़रूरत है. इंसान जब से पृथ्वी पर देखा गया है, हमेशा इंसान ही रहा है.''

राम माधव ने 'ईवोल्यूशन न्यूज़' नामक वेबसाइट से एक लेख को अग्रेषित करके ट्वीट किया. इस वेबसाइट की प्रकाशक एक अमेरिकी थिंक टैंक है जिसे डिस्कवरी संस्थान कहा जाता है, जो अमेरिका के उच्च विद्यालयों को विकास विरोधी सिद्धांतों को सिखाने के लिए एक अभियान चलाता है.

सत्यपाल सिंह वर्तमान में यूपी के बागपत से बीजेपी के सांसद हैं. पूर्व नौकरशाह सत्यपाल सिंह सेवाकाल के दौरान वो मुंबई के पुलिस कमिश्नर रह चुके हैं.

यह कोई पहला मौका नही है जब बीजेपी के नेताओं ने इस तरह के बयान दिए हैं. इससे पहले आठ जनवरी को राजस्थान के शिक्षा राज्यमंत्री वासुदेव देवनानी न्यूटन के गुरुत्वाकर्षण के सिद्धांत को नकारते हुए कहा था कि न्यूटन से पहले यह ब्रह्मगुप्त द्वितीय ने खोजा था.

राजस्थान विश्वविद्यालय में देवनानी कहा था कि हम सब ने पढ़ा है कि गुरुत्वाकर्षण का सिद्धांत न्यूटन ने दिया था, लेकिन गहराई में जाने पर पता चलेगा कि गुरुत्वाकर्षण का सिद्धांत न्यूटन से एक हज़ार वर्ष पूर्व ब्रह्मगुप्त द्वितीय ने दिया था.

First published: 21 January 2018, 15:26 IST
 
पिछली कहानी
अगली कहानी