Home » राजनीति » TripleTalaq: UP CM Yogi Adityanath says its Historic judgement, provides not only justice but empowerment also.
 

योगी: तीन तलाक़ पर रोक से न्याय के साथ हुआ महिलाओं का सशक्तिकरण

कैच ब्यूरो | Updated on: 22 August 2017, 16:42 IST

तीन तलाक पर सर्वोच्च न्यायालय के फैसले की सराहना करते हुए उत्तर प्रदेश के सीएम योगी आदित्यनाथ ने कहा है कि इससे देश में धर्मनिरपेक्षता की जड़ें मजबूत होंगी.

मुख्यमंत्री योगी आदित्यनाथ ने कहा, "यह फैसला ऐतिहासिक है. इससे न केवल न्याय मिला है, बल्कि महिलाओं का सशक्तिकरण भी हुआ है. हम इसका स्वागत करते हैं." गौरतलब है कि शीर्ष अदालत में योगी सरकार ने भी तीन तलाक के मुद्दे पर महिलाओं का पक्ष रखा था.

योगी सरकार में स्वास्थ्य मंत्री और प्रवक्ता सिद्घार्थनाथ सिंह ने कहा कि सर्वोच्च न्यायालय का फैसला ऐतिहासिक है. भारत एक धर्मनिरपेक्ष देश है, लेकिन इसकी परिभाषा को धार्मिक आधार पर बिगाड़ा गया है, लेकिन अब सुप्रीम कोर्ट ने इसे असंवैधानिक करार दिया है.

उन्होंने कहा कि भाजपा और प्रधानमंत्री नरेंद्र मोदी का मत रहा है कि लिंग के आधार पर कोई भेदभाव नहीं होना चाहिए. इधर, सपा के वरिष्ठ नेता और रामपुर से विधायक मोहम्मद आजम खान ने कहा कि अदालत के फैसले का सभी को सम्मान करना चाहिए, साथ ही उन्होंने उम्मीद जताई कि संसद राय-मशविरा कर इस मामले में अच्छा कानून बनाएगी.

समाजवादी नेता आजम खान ने कहा, "सर्वोच्च न्यायालय के बाद भी जनता की अदालत है. लोकतांत्रिक देश में जनता की अदालत सबसे ऊपर होती है. भारत में लोकतंत्र है तो आस्था से खिलवाड़ नहीं होगा, वरना कब किसकी आस्था पर घात हो जाए, पता नहीं, उम्मीद है, संसद राय-मशविरे से कानून बनाएगी."

First published: 22 August 2017, 16:42 IST
 
पिछली कहानी
अगली कहानी