Home » राजनीति » Uma Bharti after SC vedict on Babri Masjid case No one will stop us to build Ram Temple in Ayodhya
 

SC के फैसले पर बोलीं उमा- राम मंदिर बनाने से कोई माई का लाल नहीं रोक पाएगा

कैच ब्यूरो | Updated on: 19 April 2017, 14:19 IST
(एएनआई)

बाबरी विध्वंस मामले में सुप्रीम कोर्ट का फैसला आने के बाद केंद्रीय मंत्री उमा भारती ने बड़ा बयान दिया है. देश की सबसे बड़ी अदालत ने अपने आदेश में आज कहा है कि छह दिसंबर 1992 को बाबरी मस्जिद गिराए जाने के मामले में 13 आरोपियों के खिलाफ आपराधिक षडयंत्र का मुकदमा चलाया जाए. उमा इन आरोपियों में शामिल हैं. 

'सब कुछ खुल्लम-खुल्ला था'

फैसले पर अपनी प्रतिक्रिया देते हुए केंद्रीय जल संसाधन मंत्री उमा भारती ने कहा, "कोई साजिश नहीं थी. सब कुछ खुल्लम-खुल्ला हुआ था. मन से कर्म से और वचन से ऐसा कुछ नहीं था. छह दिसंबर 1992 को मैं अयोध्या में ही थी." 

उमा ने साथ ही गुरुवार को अयोध्या जाने की घोषणा करते हुए कहा, "मैं कल अयोध्या जाकर रामलला के दर्शन करूंगी. अयोध्या में राम मंदिर बनाने से हमें कोई माई का लाल नहीं रोक पाएगा. अयोध्या के लिए, गंगा के लिए और तिरंगे के लिए मैं कोई भी सजा भुगतने को तैयार हूं."

कांग्रेस पर साधा निशाना

उमा ने मीडिया से बातचीत में कहा, "मैं आज रात को अयोध्या जा रही हूं. रामलला, रामजी को अपना गर्व और संतोष व्यक्त करूंगी कि इतना सम्मान दिया." 

कांग्रेस ने इस मामले में उमा भारती से मंत्री पद से इस्तीफा देने की मांग की है. इस पर उमा ने कहा, "जो पार्टी इमरजेंसी और 1984 के दंगों में शामिल थी, उसको मेरा इस्तीफा मांगने का कोई अधिकार नहीं है." 

'दो साल में पूरी हो सुनवाई'

सुप्रीम कोर्ट ने अपने अहम फैसले में कहा है कि दो साल के अंदर लखनऊ स्पेशल कोर्ट बाबरी विध्वंस मामले की सुनवाई पूरी करे. साथ ही अदालत ने कहा है कि सुनवाई के दौरान जज का ट्रांसफर नहीं होना चाहिए.

सुप्रीम कोर्ट ने चार हफ्ते के अंदर लखनऊ की अदालत में सुनवाई शुरू करने का आदेश दिया है. हालांकि राजस्थान के राज्यपाल कल्याण सिॆंह को थोड़ी राहत मिली है. अदालत ने कहा है कि उनके गवर्नर पद पर रहते हुए उन्हें छूट मिली रहेगी. अदालत का फैसला केंद्रीय जल संसाधन मंत्री उमा भारती के लिए भी झटका माना जा रहा है. 

बाबरी विध्वंस मामले में लालकृष्ण आडवाणी, यूपी के पूर्व मुख्यमंत्री कल्याण सिंह, मुरली मनोहर जोशी, उमा भारती के अलावा विनय कटियार, साध्वी ऋतंभरा, सतीश प्रधान और चंपत राय बंसल आरोपी हैं. इसके अलावा तीन आरोपियों अशोक सिॆंघल, बाल ठाकरे और गिरिराज किशोर की मौत हो चुकी है.

First published: 19 April 2017, 14:07 IST
 
पिछली कहानी
अगली कहानी