Home » राजनीति » Uncle Srinivas seeks death of judge Loya, said, Anuj may be under pressure, shrinivas Loya, paternal uncle special CBI, judge Brijgopal Hark
 

बेटे से अलग है चाचा की राय, 'जज लोया की मौत की जांच पर बेटे ने दवाब में दिया बयान'

कैच ब्यूरो | Updated on: 15 January 2018, 13:24 IST

सोहराबुद्दीन एनकाउंटर की जांच कर रहे विशेष सीबीआई जज ब्रिजगोपाल हरकिशन लोया के 81 वर्षीय चाचा श्रीनिवास लोया ने कहा है कि जज लोया के बेटे अनुज अभी बहुत जवान हैं. वेबसाइट कारवां की रिपोर्ट के अनुसार श्रीनिवास का कहना है कि जज लोया के बेटे अनुज लोया ने दबाव के चलते ऐसा बयान दिया होगा.

गौरतलब है कि अनुज लोया ने रविवार को प्रेस कॉन्फ्रेंस के दौरान कहा कि उनके पिता की मौत संदिग्ध परिस्थितियों में नहीं हुई. उनकी मौत हार्ट अटैक से हुई थी. अनुज ने यह भी कहा कि पिता की मौत को लेकर हमारा किसी पर आरोप नहीं है.

श्रीनिवास ने रविवार की रात कारवां पत्रिका से बात करते हुए यह भी कहा कि वह दिसंबर 2014 में नागपुर में दिल का दौरा पड़ने वाले जज की मौत की जांच चाहते हैं. जब उनसे अनुज के बयान के बारे में कहा गया तो श्रीनिवास ने कहा, ''अब मुझे क्या कहना चाहिए, क्या वह पर्याप्त वयस्क है? वह सिर्फ 18 साल का है. इसलिए वह दबाव ने आ सकता है''.

श्रीनिवास ने दोहराया कि इसके लिए एक एक जांच होनी चाहिए. उन्होंने कहा ''यदि आप मुझसे एक रिश्तेदार के रूप में नहीं, एक नागरिक के रूप में पूछते हैं तो मेरा विचार है कि सर्वोच्च न्यायालय में शुरू की गई जांच को आगे बढ़ना चाहिए''.

श्रीनिवास ने कहा ''एक नागरिक के रूप में मेरा निजी दृष्टिकोण है''. न्यायधीश लोया की मौत की जांच वाली याचिका पर 16 जनवरी को न्यायमूर्ति अरुण मिश्रा की अध्यक्षता वाली सुप्रीम कोर्ट की पीठ सुनवाई करेगी.

जब श्रीनिवास से पूछा गया कि कौन परिवार पर दबाव डाल सकता है, श्रीनिवास ने कहा, "उनका (अनुज का) दादा अब 85 साल है. उसकी मां वहाँ है (जज लोया की बेटी) उसका विवाह है. यह सब हो सकता है (दबाव का कारण बनता है)"

महाराष्ट्र के लातूर में रहने वाले श्रीनिवास ने कहा, उन्हें पता नहीं था कि जज लोया का परिवार इस समय कैसे रह रहा है. लातूर के कानूनी पेशे में थलट जज और उनके पूर्व सहयोगी के करीबी दोस्त अधिवक्ता बलवंत जाधव ने कारवां को बताया कि वह यह निश्चित है कि वह राजनीतिक दबाव है.

कारवां के अनुसार उन्होंने कहा "मैं दशकों से पूरे परिवार को जानता हूं अब वे अमित शाह को बचाने के लिए राजनीतिक दबाव में हैं."

महाराष्ट्र के लातूर में रहने वाले श्रीनिवास ने कहा, उन्हें पता नहीं था कि जज लोया का परिवार इस समय कैसे रह रहा है. लातूर के कानूनी पेशे में थलट जज और उनके पूर्व सहयोगी के करीबी दोस्त अधिवक्ता बलवंत जाधव ने कारवां को बताया कि वह यह निश्चित है कि वह राजनीतिक दबाव है.

कारवां के अनुसार उन्होंने कहा "मैं दशकों से पूरे परिवार को जानता हूं अब वे अमित शाह को बचाने के लिए राजनीतिक दबाव में हैं."

First published: 15 January 2018, 13:15 IST
 
पिछली कहानी
अगली कहानी