Home » राजनीति » up-Mobile internet services suspended in Saharanpur after violent clashes.
 

सहारनपुर हिंसा: इंटरनेट-मोबाइल मैसेज पर बैन, DM और SSP पर गाज

कैच ब्यूरो | Updated on: 25 May 2017, 10:13 IST
पीटीआई/ फ़ाइल फोटो

सहारनपुर में जातीय हिंसा के बाद प्रशासन ने पूरे शहर में धारा 144 लगाने का निर्णय किया है. प्रशासन ने पूरे शहर में इंटरनेट सेवाओं पर बैन लगा दिया है. इसी के साथ सरकार ने मोबाइल मैसेज पर भी सहारनपुर में रोक लगा दी है. बुधवार को हुए मायावती के सहारनपुर दौरे के बाद फिर भड़की हिंसा में एक व्यक्ति की मौत हो गयी थी और कई लोग घायल हो गए थे.

सहारनपुर हिंसा की गंभीरता से लेते हुए यूपी सरकार ने सख्त निर्णय लेने शुरू कर दिए हैं. योगी आदित्यनाथ ने सहारनपुर के डीएम और एसएसपी को हटा दिया है. इसके अलावा मंडलायुक्त और पुलिस उप महानिरीक्षक के तबादले कर दिए हैं. प्रमोद कुमार पाण्डेय को सहारनपुर का नया जिलाधिकारी नियुक्त किया गया है, जबकि बबलू कुमार सहारनपुर के नये एएसपी बनाए गए हैं. सहारनपुर के मौजूदा जिलाधिकारी नागेन्द्र प्रताप सिंह को प्रतीक्षारत रखा गया, जबकि एसएसपी सुभाष चंद्र दुबे को पुलिस महानिदेशक लखनऊ से संबद्ध कर दिया गया है.

सहारनपुर हिंसा में 24 लोग गिरफ्तार

सहारनपुर हिंसा मामले में  पुलिस ने अब तक 24 लोगों को गिरफ्तार किया गया है और करीब 10 लोगों को हिरासत में लेकर पूछताछ की जा रही है. इस वारदात में 15 लोग घायल हैं. सभी घायलों को जिला अस्पताल में भर्ती कराया गया है.

बसपा सुप्रीमो मायावती के दौरे के बाद एक शख्स की मौत के मामले में 3 लोगों के खिलाफ केस दर्ज कराया गया है. यूपी सरकार ने केंद्र को भेजी रिपोर्ट में बताया है कि 23 मई को मायावती की रैली से लौट रहे लोगों पर ठाकुर समुदाय ने हमला किया था.

माया के दौरे के बाद चौथी बार भड़की हिंसा

बसपा सुप्रीमो मायावती के दौरे के बाद बुधवार को सहारनपुर के जनता रोड इलाके में एक और युवक को गोली मारने की घटना सामने आई. इस युवक की हालत नाजुक बताई जा रही है. पुलिस इस मामले की जांच कर रही है.

उधर, सहारनपुर पहुंचे गृह सचिव, एडीजी कानून-व्यवस्था, आईजी और डीआईजी ने एसएसपी सहित स्थानीय अफसरों के साथ पुलिस लाइन में समीक्षा बैठक के बाद अस्पताल जाकर घायलों का हाल जाना.

ऐसे हुई सहारनपुर हिंसा की शुरुआत

5 मई को महाराणा प्रताप की जयंती के मौके पर शोभायात्रा निकाली जा रही थी. इस शोभायात्रा के दौरान डीजे बजाने से रोकने पर दलितों और ठाकुरों में झड़प हुई थी. झड़प के दौरान ठाकुर समाज के एक युवक की मौत हो गई थी. घटना के बाद दलित समाज के 60 से ज्यादा मकान और कई गाड़ियां जला दी गई थीं.

योगी ने दिए थे सख्त कार्रवाई के आदेश 

सहारनपुर में बार-बार हिंसा भड़कने पर मुख्यमंत्री योगी आदित्यनाथ ने राज्य के कई आला अफसरों को मौके पर जाने के आदेश दिए हैं. इसके बाद गृह सचिव मणिप्रसाद मिश्रा, एडीजी (लॉ एंड ऑर्डर) आदित्य मिश्रा, आईजी (एसटीएफ) अमिताभ यश, डीआईजी विजय भूषण सहारनपुर भेजे गए. इसके अलावा गाजियाबाद, मेरठ, अलीगढ़, आगरा से पीएसी के पांच कमांडेंट्स को तैनात किया गया है. ग्रामीण इलाकों में रैपिड एक्शन फोर्स (आरएएफ) ने मोर्चा संभाला हुआ है.

First published: 25 May 2017, 10:13 IST
 
पिछली कहानी
अगली कहानी