Home » राजनीति » UP Police suspends IPS Himanshu Kumar for indiscipline know the Yadav-Yogi tweet
 

क्या था यादव और योगी पर IPS हिमांशु कुमार का ट्वीट?

कैच ब्यूरो | Updated on: 25 March 2017, 15:09 IST
(एएनआई)

यूपी सरकार ने विवादित ट्वीट के बाद आईपीएस हिमांशु कुमार को सस्पेंड कर दिया है. योगी सरकार की ताजपोशी के बाद हिमांशु कुमार ने एक ट्वीट में वरिष्ठ पुलिस अफसरों पर जातिगत भेदभाव करते हुए कार्रवाई का आरोप लगाया था. हिमांशु को अब अनुशासन भंग करने के आरोप में निलंबित कर दिया गया है.

पिछले बुधवार को हिमांशु ने ट्वीट किया, "यहां सीनियर अफसरों में यादव सरनेम वाले पुलिसकर्मियों को सस्पेंड कराने या लाइन हाजिर करने की होड़ मची है." हिमांशु कुमार ने डीजीपी दफ्तर को कठघरे में खड़ा किया था. हिमांशु के इस ट्वीट के बाद काफी हंगमा खड़ा हो गया था. ट्विटर पर भी ये ट्रेंड कर रहा था.

ट्विटर

अखिलेश का योगी सरकार पर वार

इस बीच शनिवार को निलंबन की कार्रवाई के बाद दोपहर हिमांशु कुमार ने एक और ट्वीट किया. इसमें उन्होंने लिखा सत्य की सदैव जीत होती है. हिमांशु कुमार यूपी विधानसभा चुनाव के दौरान फिरोजाबाद के एसपी थे. चुनाव आयोग ने शिकायत के बाद उन्हें हटा दिया था. 

इस बीच लखनऊ मेंं एक प्रेस कॉन्फ्रेंस के दौरान यूपी के पूर्व सीएम और सपा के राष्ट्रीय अध्यक्ष अखिलेश यादव ने राज्य की बीजेपी सरकार को इस मुद्दे पर कठघरे में खड़ा किया है. अखिलेश यादव ने कहा, "केवल एक खास जाति के पुलिस वालों का निलंबन या तबादला हो रहा है. हर कोई जानता है. लेकिन क्या आप इसे रिपोर्ट करेंगे?" 

अखिलेश ने इस दौरान सीएम आदित्यनाथ के संसद में दिए गए बयान पर निशाना साधते हुए कहा, "सीएम ने कहा हमसे एक साल बड़े हैं. हम कहते हैं काम में बहुत पीछे हो. उम्र में तो बड़े हो सकते हो."

First published: 25 March 2017, 15:09 IST
 
पिछली कहानी
अगली कहानी