Home » राजनीति » VHP leader Praveen Togadia attacks on senior bjp leader for conspiracy againest him over a case 1996 attempt to murder case
 

VHP नेता प्रवीण तोगड़िया ने भाजपा के बड़े नेता पर लगाया साजिश करने का आरोप

न्यूज एजेंसी | Updated on: 6 January 2018, 13:19 IST

विश्व हिंदू परिषद के नेता प्रवीण तोगड़िया ने शुक्रवार को आरोप लगाया कि भारतीय जनता पार्टी में 'उच्च स्तर पर विराजमान कोई' उनके खिलाफ साजिश रच रहा है. परिषद के अंतर्राष्ट्रीय कार्यकारी अध्यक्ष ने कहा कि इस व्यक्ति की कोशिश है कि 1996 के हत्या के प्रयास के एक मामले में अदालत द्वारा जारी समन उन तक न पहुंचे और वह इसमें फंसकर जेल चले जाएं.

अदालत ने शुक्रवार को तोगड़िया के खिलाफ जारी एक गैर जमानती वारंट को निरस्त कर दिया. तोगड़िया ने कहा, "आज (शुक्रवार को) अदालत ने वारंट को निरस्त कर दिया और मुझे अदालत में जब कभी मामले की सुनवाई होगी, पेश होना होगा। गैर जमानती वारंट इसलिए मेरे खिलाफ जारी हुआ क्योंकि मैंने इसके पहले जारी समन का जवाब नहीं दिया."

उन्होंने आगे कहा, "पुलिस ने वो समन मुझे दिए ही नहीं. मुझे इस आशय की सूचना मिली है कि यह (राज्य के) गृह मंत्री और मुख्यमंत्री के दखल के बिना किसी उच्च पदस्थ द्वारा जान बूझकर किया गया. ऐसा ही पाटीदार आंदोलन के समय हुआ था जब (तत्कालीन) मुख्यमंत्री आनंदी बेन पटेल ने कहा था कि उन्होंने आंदोलनकारियों पर लाठीचार्ज का आदेश नहीं दिया था. यह वैसा ही मामला है."

वीएचपी नेता ने कहा, "(उप मुख्यमंत्री) नितिन पटेल, (मुख्यमंत्री) विजय रूपाणी ऐसा नहीं करेंगे. मैं अहमदाबाद में था और फिर भी मुझे समन नहीं दिया गया, क्यों? मुझे कई बार लगता है कि मेरी आवाज को दबाया जा रहा है. मैं बाद में खुलासा करूंगा कि इस सब के पीछे कौन है."

गौरतलब है कि साल 1996 के हत्या के प्रयास का मामला तोगड़िया समेत 39 लोगों पर चल रहा है. इसमें भाजपा के कई नेता शामिल हैं. याचिकाकर्ता भी भाजपा के पूर्व विधायक जगरूप सिंह राजपूत हैं. वह बीते महीने हुए चुनाव में कांग्रेस के हिम्मत सिंह पटेल के हाथों हार गए.

ये घटना तब हुई थी जब शंकर सिंह वाघेला ने भाजपा से विद्रोह कर दिया था. वाघेला समर्थकों पर भाजपा समर्थकों ने हमला किया था. वाघेला के समर्थक आत्माराम पटेल को बुरी तरह पीटा गया था. तोगड़िया ने कहा, "भाजपा को आम चुनाव में स्पष्ट जनादेश के बावजूद, वे चुनावी वादे क्यों नहीं पूरे कर रहे हैं. मैं इसके खिलाफ अपनी आवाज उठाता रहा हूं और इसीलिए जान बूझकर मेरी आवाज दबाई जा रही है."

First published: 6 January 2018, 13:19 IST
 
अगली कहानी