Home » राजनीति » vhp leader praveen togadia found unconscious in the park after 11 hours he went missing, gujrat, rajasthan police, bjp, pm modi, amit shah,
 

11 घंटे से लापता वीएचपी नेता प्रवीण तोगड़िया पार्क में बेहोश पड़े मिले

कैच ब्यूरो | Updated on: 16 January 2018, 8:42 IST

विश्व हिंदू परिषद के अंतरराष्ट्रीय कार्यकारी अध्यक्ष प्रवीण तोगडि़या गुजरात के अहमदाबाद के एक शाही बाग इलाके के एक पार्क के अंदर बेहोश पड़े मिले. वह 'लापता' होने के करीब 11 घंटे बाद सोमवार देर रात बेहोश हालत में मिले. उन्हें स्थानीय चंद्रमणि अस्पताल में भर्ती कराया गया है. तोगडि़या का इस हालत में मिलना कई सवाल खड़े करता है. उन्हें जेड प्लस श्रेणी की सुरक्षा मिली हुई है.

रिपोर्ट्स के अनुसार, उनके शऱीर में शुगर लेवल कम होने के कारण उनकी तबीयत बिगड़ी और वह बेहोश हो गए थे. तोगड़िया सोमवार सुबह से ही लापता थे.

दरअसल, एक पुराने मामले में उन्हें गिरफ़्तार करने के लिए राजस्थान पुलिस की एक टीम अहमदाबाद पहुंची थी, तभी से तोगड़िया का कोई अता-पता नहीं था.

राजस्थान का चार पुलिस कर्मियों का दल प्रवीण तोगड़िया को तलाश रहा था. सोमवार की सुबह राजस्थान पुलिस की टीम तोगड़िया के घर गिरफ्तारी वारंट के साथ पहुंची, लेकिन वे वहां नहीं मिले.

तोगड़िया के खिलाफ यह वारंट 2015 में दिए गए एक नफरत फैलाने वाले भाषण के मामले में जारी किया गया है. इस बीच उनके लापता होने की खबर आई. इसके बाद उनके समर्थकों ने हंगामा शुरू कर दिया. वे प्रदर्शन करने लगे. वे तोगड़िया के लापता होने के पीछे पुलिस का हाथ बता रहे थे.

तोगड़िया के लापता होने की खबर फैलते ही विहिप कार्यकर्ता सोला पुलिस स्टेशन में इकट्ठे हो गए. वे पुलिस पर आरोप लगा रहे थे कि उसने तोगड़िया को हिरासत में लिया है. उन्होंने सरखेज-गांधीनगर हाईवे पर जाम लगा दिया और पुलिस से तोगड़िया को तुरंत तलाश करने की मांग करने लगे.

विश्व हिंदू परिषद की गुजरात इकाई के महासचिव रणछोड़ भारवाड ने तोगड़िया की सुरक्षा में लापरवाही और उनके लापता होने के लिए प्रशासन को जिम्मेदार ठहराया.

वहीं पुलिस लगातार कह रही थी कि उसने तोगड़िया को नहीं गिरफ्तार किया है. पुलिस ने कहा कि उनकी जानकारी के मुताबिक राजस्थान पुलिस की टीम तोगड़िया के गिरफ्तारी वारंट को तामील किए बगैर लौट गई क्योंकि वे अहमदाबाद में नहीं मिले. पुलिस के अनुसार प्रवीण तोगड़िया सुबह विहिप के आफिस में थे. वे वहां से सुबह 11 बजे ऑटो रिक्शा से निकले. इसके बाद उनका कोई पता नहीं चला.

First published: 16 January 2018, 8:40 IST
 
अगली कहानी