Home » राजनीति » Vijay Rupani retained as Gujarat chief minister,nitin patel remains deputy cm,bjp defeats congress in Assembly election
 

मोदी के गुजरात में विजय रूपाणी होंगे सीएम, सोमवार को होगा शपथ ग्रहण समारोह

कैच ब्यूरो | Updated on: 22 December 2017, 18:13 IST
(Vijay Rupani twitter account)

पीएम मोदी के गृहराज्य गुजरात का अगला सीएम कौन होगा ये तय हो गया है. केंद्रीय पर्यवेक्षकों अरुण जेटली और सरोज पांडे की निगरानी में शुक्रवार दोपहर को भाजपा के विधायक दल की बैठक हुई. इस बैठक में विजय रूपाणी को विधायकों को अपना सीएम चुना.

गुजरात में भाजपा के उम्मीद के मुताबिक प्रदर्शन ना कर पाने के बाद रूपाणी की कुर्सी छिनने के कयास लगाये जा रहे थे. लेकिन आखिरकार विजय रूपाणी अपनी कुर्सी बचाने में कामयाब हो गए. गौरतलब है कि भाजपा ने विजय रूपाणी के चेहरे को सीएम पद का चेहरा बनाकर चुनाव लड़ा था. 

विधायक दल की बैठक के बाद केंद्रीय पर्यवेक्षक अरुण जेटली ने प्रेस कॉन्फ्रेंस कर इसकी जानकारी दी. केंद्रीय वित्त मंत्री अरुण जेटली ने कहा, "विधायकों ने विजय रूपाणी को सर्वसम्मति से अपना नेता चुना है. जेटली ने कहा कि विधायक दल की मीटिंग में नितिन पटेल को उपमुख्यमंत्री के तौर पर चुना गया. हम आपको जल्द ही शपथ ग्रहण समारोह की जानकारी देंगे."

हालांकि सूत्रों के मुताबिक गुजरात में विजय रूपाणी का सीएम पद पर शपथ ग्रहण समारोह सोमवार को होगा. इसमें पीएम मोदी और भाजपा के राष्ट्रीय अध्यक्ष अमित शाह समेत कई वरिष्ठ नेता शिरकत करेंगे.

गुजरात में भाजपा ने लगातार छठी बार जीता चुनाव

गुजरात विधानसभा के सोमवार (18 दिसंबर) को आए नतीजों में भाजपा ने गुजरात की 182 सीटों में से 99 सीटें जीतकर बहुमत हासिल कर लिया. हालांकि कांग्रेस ने इस बार के विधानसभा चुनाव में कांग्रेस को कड़ी टक्कर दी है. कांग्रेस को 77 सीटें मिली हैं. इसके साथ ही राज्य में कांग्रेस का वोट प्रतिशत बढ़ा है. गुजरात में भाजपा और कांग्रेस के अलावा निर्दलीयों ने 3, भारतीय ट्राइबल पार्टी को 2 और राष्ट्रवादी कांग्रेस पार्टी (NCP) को एक सीट मिली है.

गौरतलब है भाजपा ने इस बार भले ही गुजरात में बहुमत हासिल कर लिया हो पर उसे राज्य में खासा नुकसान हुआ है. 2012 के विधानसभा चुनाव की तुलना में उसकी 16 सीटें कम आई हैं. वहीं, कांग्रेस ने 1995 के बाद का शानदार प्रदर्शन किया है. भाजपा और कांग्रेस के बीच वोट शेयर का अंतर 7.7 फीसदी का रह गया है जबकि 2012 में ये 9 फीसदी था. भाजपा को इस चुनाव में 49.1 फीसदी और कांग्रेस को 41.4 फीसदी वोट मिला है.

First published: 22 December 2017, 18:13 IST
 
पिछली कहानी
अगली कहानी