Home » राजनीति » Vijay Rupani takes oath as gijrat cm, becomes 14th Chief Minister of Gujarat, pm modi,amit shah,nitish kumar present in cermony
 

विजय रूपाणी ने दूसरी बार ली गुजरात के सीएम पद की शपथ, इनको मिली कैबिनेट में जगह

कैच ब्यूरो | Updated on: 26 December 2017, 12:38 IST

विजय रूपाणी ने मंगलवार को गुजरात के मुख्यमंत्री पद की शपथ ली. विजय रूपाणी ने गुजराती भाषा में अपनी शपथ ली. गुजरात विधानसभा चुनाव में भाजपा ने विजय रूपाणी को ही सीएम पद के उम्मीदवार के तौर पर प्रोजेक्ट किया था. हालांकि पार्टी का प्रदर्शन वैसा नहीं रहा जैसी भाजपा हाईकमान को उम्मीद थी.

शुक्रवार को भाजपा की विधायक दल की बैठक में विजय रूपाणी को सर्वसम्मति से नेता चुना गया. केंद्रीय पर्यवेक्षकों अरुण जेटली और सरोज पांडे की निगरानी में ये बैठक आयोजित की गई थी. विजय रूपाणी लगातार दूसरी बार गुजरात के सीएम बनेंगे. वहीं नितिन पटेल ने डिप्टी सीएम पद की शपथ ली.

गांधीनगर में आयोजित इस भव्य शपथ ग्रहण समारोह में पीएम मोदी और भाजपा के राष्ट्रीय अध्यक्ष अमित शाह मौजूद रहे. गुजरात इन दोनों का गृहराज्य है. विजय रूपाणी के शपथ ग्रहण में भाजपा शासित राज्यों के मुख्यमंत्रियों ने भी हिस्सा लिया. वहीं बिहार में भाजपा के सहयोग से सरकार चला रहे नीतीश कुमार भी इस मौके के गवाह बने.

इनके अलावा वरिष्ठ केंद्रीय मंत्रियों समेत एनडीए शासित राज्यों के मुख्यमंत्रियों ने शपथ ग्रहण समारोह में हिस्सा लिया. जानकारी के मुताबिक विजय रूपाणी के अलावा 19 मंत्रियों ने शपथ ली. गौरतलब है कि गुजरात में बीजेपी छठी बार सरकार बनने जा रही है.

आर सी फलदू, भूपेंद्र सिंह चुडासमा, कौशिक पटेल, सौरभ पटेल और गणपत वसावा मंत्री के तौर पर शपथ लेने वाले प्रमुख चेहरे हैं. इन सभी को बाद में इनके विभाग बांटे जाएंगे. विभावरे दवे एकमात्र महिला हैं, जिन्हें रूपाणी सरकार में कैबिनेट के तौर पर जगह मिली है.

गुजरात विधानसभा चुनाव में मिली जीत

गुजरात विधानसभा के सोमवार (18 दिसंबर) को आए नतीजों में भाजपा ने गुजरात की 182 सीटों में से 99 सीटें जीतकर बहुमत हासिल कर लिया. हालांकि कांग्रेस ने इस बार के विधानसभा चुनाव में कांग्रेस को कड़ी टक्कर दी. कांग्रेस को 77 सीटें मिली हैं. इसके साथ ही राज्य में कांग्रेस का वोट प्रतिशत बढ़ा है. गुजरात में भाजपा और कांग्रेस के अलावा निर्दलीयों को 3, भारतीय ट्राइबल पार्टी को 2 और राष्ट्रवादी कांग्रेस पार्टी (NCP) को एक सीट मिली है.

गौरतलब है भाजपा ने इस बार भले ही गुजरात में बहुमत हासिल कर लिया हो पर उसे राज्य में खासा नुकसान हुआ है. 2012 के विधानसभा चुनाव की तुलना में उसकी 16 सीटें कम आई हैं. वहीं, कांग्रेस ने 1995 के बाद का शानदार प्रदर्शन किया है. भाजपा और कांग्रेस के बीच वोट शेयर का अंतर 7.7 फीसदी का रह गया है जबकि 2012 में ये 9 फीसदी था. भाजपा को इस चुनाव में 49.1 फीसदी और कांग्रेस को 41.4 फीसदी वोट मिला.

First published: 26 December 2017, 12:37 IST
 
पिछली कहानी
अगली कहानी