Home » राजनीति » W. Bengal: One BJP Leader arrested with 33 lakh new INR currency
 

बंगाल: भाजपा नेता 33 लाख के नए नोट के साथ गिरफ्तार

कैच ब्यूरो | Updated on: 10 February 2017, 1:37 IST
(एजेंसी)

नोटबंदी के बाद पैसों का अवैध लेनदेन और कालाबाजारी पर नकेल कसते हुए कोलकाता पुलिस के स्पेशल टास्क फोर्स (एसटीएफ) की टीम ने सोमवार की रात 10 बजे के करीब दुर्गापुर के सात कोल माफिया और प्रमोटर को भारी मात्रा में हथियार के साथ गिरफ्तार किया है.

गिरफ्तार आरोपियों में एक स्थानीय भाजपा नेता मनीष शर्मा उर्फ मनीष जोशी उर्फ चिंटू भी शामिल है, जो इस बार अपने क्षेत्र में विधानसभा चुनाव में भाजपा के टिकट पर चुनाव लड़ा था.

कोलकाता पुलिस के मुताबिक गिरफ्तार किये गए भाजपा नेता के पास से कुल 33 लाख रुपये के नये नोट के अलावा सात फायर आर्म्स और 89 जिंदा कारतूस जब्त किया गया है.

उसके साथ गिरफ्तार अन्य आरोपियों के नाम राजेश झा उर्फ राजू, लोकेश सिंह, कृष्णा मुरारी कायेल उर्फ बिल्लू, शायेन मजूमदार उर्फ बाबू, पार्थ चटर्जी उर्फ गौतम और शुभम भौमिक हैं. इनके पास से एक इनोवा कार भी जब्त हुई है.

खबरों के मुताबिक पुलिस ने मंगलवार को आरोपियों के बैंकशाल कोर्ट में पेश किया,जहां कोर्ट ने सभी को नौ दिसंबर तक पुलिस हिरासत में भेज दिया है. ये सभी महानगर में दुर्गापुर से हथियार के साथ महानगर क्या करने आये थे, इस बारे में पूछताछ हो रही है.

पुलिस सूत्रों के मुताबिक इन सभी के पास से 33 लाख रुपये के नये असली नोट, कुल सात फायर आर्म्स व 89 राउंड कारतूस मिले हैं.

इस मामले में कोलकाता पुलिस के संयुक्त पुलिस आयुक्त (एसटीएफ) विशाल गर्ग ने बताया, "फरीदपुर इलाके में कत्ल के मामले में इसमें से तीन आरोपियों वांटेड हैं. इसके अलावा एक आरोपी पहले भी नकली नोट के साथ गिरफ्तार हो चुके हैं. महानगर में हथियार व इतनी बड़ी रकम के साथ ये सभी क्या करने आये थे, इस बारे में सभी से पूछताछ हो रही है."

पुलिस को आशंका है कि किसी बड़ी साजिश को अंजाम देने के पहले प्लानिंग करने के लिए ही यह सभी महानगर में आये थे. इनसे पूछताछ में कई बड़े खुलासे हो सकते हैं.

वहीं लालबाजार के पुलिस सूत्रों का कहना है कि अपने इलाके में किसी बड़ी वारदात को अंजाम देने यह महानगर से हथियार खरीदने यहां आ सकते हैं. किसी से रुपये बदलवाने यहां सभी आये थे या नहीं, इस बारे में भी इनसे पूछताछ हो रही है.

एसटीएफ के संयुक्त पुलिस आयुक्त विशाल गर्ग ने बताया, "उन्हें गुप्त सूचना मिली थी कि संदिग्ध स्थिति में कुछ लोग महानगर में हथियार के साथ घूम रहे हैं. इसके बाद एसटीएफ की टीम ने इस तरह की एक इनोवा कार को चिन्हित किया और मानिकतल्ला क्षेत्र में स्थित विधान शिशु उद्यान के पास कार को रोककर सबकी तलाशी ली."

गर्ग ने आगे कहा, "उस समय कार में चालक समेत कुल पांच लोग सवार थे. सबसे पूछताछ में पुलिस की टीम ने कार से हथियार व नये नोट जब्त किये. इसके बाद सभी को हथियार के साथ गिरफ्तार कर लिया गया. उन सभी से पूछताछ के बाद बाइपास इलाके में स्थित एक अपार्टमेंट के फ्लैट से अन्य दो बदमाशों को गिरफ्तार कर लिया गया. उस फ्लैट से भी पुलिस की टीम को रिवॉल्वर व कारतूस मिले हैं."

First published: 7 December 2016, 12:29 IST
 
पिछली कहानी
अगली कहानी