Home » राजनीति » Which parties support Modi on article 370, who was opposed?
 

Article 370 पर किन पार्टियों ने किया मोदी का सपोर्ट, कौन रहा विरोध में ?

कैच ब्यूरो | Updated on: 5 August 2019, 16:53 IST

केंद्र सरकार ने जम्मू कश्मीर से अनुच्छेद 370 को समाप्त कर दिया है, जिससे जम्मू-कश्मीर को विशेष दर्जा हासिल था. इस मामले में संसद में मायावती की बसपा और आम आदमी पार्टी (AAP) जैसे कट्टर आलोचकों ने सरकार का साथ दिया. बीएसपी और AAP के अलावा नवीन पटनायक की BJD, जगन मोहन रेड्डी की YSRCP और बोडोलैंड पीपुल्स फ्रंट (BDF) जैसी पार्टियों ने भी जम्मू-कश्मीर पुनर्गठन विधेयक का समर्थन किया.

इसके अनुसार लद्दाख बिना विधायिका वाला केंद्र शासित प्रदेश होगा जबकि जम्मू और कश्मीर विधायिका के साथ होगा. एनडीए के सहयोगी दल शिवसेना, अन्नाद्रमुक और शिरोमणि अकाली दल ने सरकार के कदम का समर्थन किया. जबकि भाजपा के बिहार सहयोगी जद (यू) ने ट्रिपल तलाक बिल की तरह 270 हटाए जाने का विरोध किया.


 

वरिष्ठ जदयू नेता केसी त्यागी ने कहा “हमारे प्रमुख नीतीश कुमार जेपी नारायण, राम मनोहर लोहिया और जॉर्ज फर्नांडीस की परंपरा को आगे बढ़ा रहे हैं. इसलिए हमारी पार्टी आज राज्यसभा में विधेयक का समर्थन नहीं कर रही है. हमारी अलग सोच है. हम चाहते हैं कि धारा 370 को निरस्त न किया जाए.”

जेडी (यू) के अलावा, कांग्रेस, टीएमसी, डीएमके, पीडीपी और वाइको ने इस कदम का पुरजोर विरोध किया, जिसमें सदस्यों ने वेल ऑफ़ द हाउस में हंगामा किया और 'वी जस्टिस जस्टिस' और 'कश्मीर का विभाजन नहीं' जैसे नारे लगाए. समाजवादी पार्टी (सपा) ने भी सरकार का विरोध किया. दिल्ली के मुख्यमंत्री और AAP प्रमुख अरविंद केजरीवाल ने कहा कि उनकी पार्टी ने जम्मू-कश्मीर के केंद्र के फैसलों का समर्थन करती है. उन्होंने कहा "हमें उम्मीद है कि इससे राज्य में शांति और विकास होगा."

अनुच्छेद 370 : NDA ने भारत का सिर काट दिया है- गुलाम नबी आज़ाद

First published: 5 August 2019, 16:50 IST
 
पिछली कहानी
अगली कहानी