Home » राजनीति » Who is Chief Election Commissioner, Akal Kumar Jyoti, who has come to the AAP's target
 

कौन हैं मुख्य चुनाव आयुक्त अचल कुमार ज्योति, जो AAP के निशाने पर आ गए हैं

सुनील रावत | Updated on: 19 January 2018, 16:47 IST

लाभ के पद मामले में चुनाव आयोग ने आज एक बड़ी कार्रवाई करते हुए आम आदमी पार्टी के 20 विधायकों को अयोग्य घोषित कर दिया है. हालांकि इसके बावजूद भी केजरीवाल सरकार पर संकट नही है.

इससे पहले चुनाव आयोग ने आप के 21 विधायकों को 'लाभ का पद' मामले में कारण बताओ नोटिस दिया था. इस मामले में पहले 21 विधायकों की संख्या थी, लेकिन जरनैल सिंह पहले ही पार्टी से इस्तीफा दे चुके हैं.

मीडिया से बात करते हुए. आम आदमी पार्टी के नेता सौरव भारद्वाज का कहना है कि चुनाव आयोग ने बिना विधायकों की गवाही के यह कार्रवाई की. भारद्वाज ने कहा मुख्य चुनाव आयुक्त अचल कुमार जोति का 23 जनवरी को जन्मदिन है. वह 65 साल के हो रहे हैं. भारद्वाज ने कहा रिटायर होने से पहले वह पीएम मोदी का कर्ज उतारना चाहते हैं.

सौरभ भारद्वाज ने कहा कि किसी विधायक के पास सरकारी गाड़ी और बंगाल नहीं है. उनके पास कोई अकाउंट ऐसा नहीं है, जिसमें एक रुपये की भी तनख्वाह मिली है.

कौन हैं अचल कुमार ज्योति

6 जुलाई 2017 को सरकार ने गुजरात कैडर के अफसर अचल कुमार ज्योति देश का मुख्य चुनाव आयुक्त बना दिया. हालांकि अचल कुमार ऐसे पहले अफसर नही थे जिन्हें पीएम मोदी के रहते गुजरात से लाया गया.

64 साल के अचल कुमार ज्योति गुजरात कैडर 1975 बैच के IAS ऑफिसर रहे हैं और गुजरात में 2013 में मुख्य सचिव पद से रिटायर हुए हैं. पीएम नरेन्द्र मोदी के साथ काम करने का इनका पुराना प्रशासनिक अनुभव रहा है. 2013 में जब अचल कुमार ज्योति गुजरात के चीफ सेक्रेटरी थे उस दौरान नरेन्द्र मोदी राज्य के मुख्यमंत्री थे.

प्रशासनिक हलकों में कहा जाता है कि पीएम के साथ काम करने की इनकी अच्छी ट्यूनिंग है और वह पीएम मोदी के करीबी अफसरों में शामिल रहे. मोदी के स्वर्णिम गुजरात अभियान के दौरान IAS अचल कुमार ज्योति काफी सक्रिय रहे थे, इस दौरान वह गांवों में कई बार देर रात तक काम करते थे, तब सीएम मोदी ने इसके लिए अचल कुमार ज्योति की तारीफ भी की थी.

First published: 19 January 2018, 16:47 IST
 
अगली कहानी