Home » राजनीति » Who was Karim Lala, in whose name Congress-Shiv Sena became face to face
 

जिसके नाम से कांग्रेस-शिवसेना हो गए आमने-सामने, जानिए कौन था करीम लाला

कैच ब्यूरो | Updated on: 17 January 2020, 12:48 IST

कांग्रेस की सहयोगी शिवसेना के वरिष्ठ नेता संजय राउत के एक बयान के बाद महाराष्ट्र की राजनीति में बवाल मच गया. दोनों पार्टियां आमने-सामने हो गई हैं. दरअसल यह विवाद तब शुरू हुआ जब शिवसेना नेता संजय राउत ने दावा किया है कि भूतपूर्व प्रधानमंत्री इंदिरा गांधी माफिया डॉन करीम लाला से मुलाकात करने के लिए मुंबई आया करती थीं. कांग्रेस पार्टी ने इस पर कड़ी प्रतिक्रिया दी. संजय निरूपम ने कहा राउत को अधूरी जानकारी है, जो खतरनाक है.  

हालांकि विवाद बढ़ने के बाद संजय राउत ने कहा ''अगर उनके बयान से किसी का भी दिल आहत हुआ है तो वह माफी मांगते हैं''. संजय राउत ने कहा कि वह हमेशा कांग्रेस के नेताओं का समर्थन करते हैं. उन्होंने हमेशा इंदिरा गांधी, पंडित नेहरू, राजीव गांधी और गांधी परिवार के प्रति सम्मान दिखाया है''.

कौन था करीम लाला ?

करीम लाला का नाम 60 के दशक में मुंबई के बड़े अंडरवर्ल्ड माफियाओं में गिना जाता था. अफगानिस्तान में जन्मे अंडरवर्ल्ड गैंगस्टर का अवैध कारोबार शराब के धंधे में दिलचस्पी से लेकर मुंबई (बॉम्बे) में जुए और जबरन वसूली रैकेट तक फैला था. 70 और 80 के दशक तक लाला का नाम मुंबई में बड़े माफियाओं में शुमार था.

एक रिपोर्ट के अनुसार लाला ने एक मजदूर के रूप में जीवन शुरू किया था, बाद में वह पठानों के एक गिरोह में शामिल हो गए, जो अवैध वसूली करता था. 1971-74 से लाला तस्करी में हावी था, लेकिन फिर लाला ने व्यवसाय की बागडोर अपने भतीजे, समद खान को सौंप दी, जो बदले में 1984 में प्रतिद्वंद्वी दाऊद इब्राहिम गिरोह द्वारा मार दिया गया था.

बाद में राउत ने कहा "मुझे नहीं लगता कि वह (इंदिरा गांधी) उनसे मिले क्योंकि वह एक अंडरवर्ल्ड डॉन थे. लाला पठान समुदाय में एक सम्मानित व्यक्ति थे. इसलिए देश भर के पठान उनसे मिलने और उनसे मिलने आते थे''.

संजय राउत बोले- अंडरवर्ल्ड डॉन से मिली थीं इंदिरा गांधी, बवाल के बाद मांगनी पड़ी माफी

First published: 17 January 2020, 12:30 IST
 
पिछली कहानी
अगली कहानी