Home » राजस्थान » Alwar: Muslim man beaten by gau rakshaks dies after brutal attack
 

राजस्थान: गोरक्षकों की बर्बर पिटाई से ज़ख़्मी मुस्लिम की मौत

कैच ब्यूरो | Updated on: 5 April 2017, 12:27 IST
(राजस्थान पत्रिका)

राजस्थान के अलवर जिले में कथित गोरक्षकों के हमले में घायल मुस्लिम शख्स की अस्पताल में इलाज के दौरान मौत हो गई है. अलवर के बहरोड़ में कथत गोरक्षकों के समूह ने शनिवार को छह गाड़ियों में गायों को लेकर जा रहे लोगों पर हमला कर दिया था.

हरियाणा के रहने वाले 15 लोगों की इस दौरान गोरक्षकों ने बर्बर पिटाई की. इस दौरान 55 साल के पहलू खान गंभीर रूप से जख्मी हो गए. अस्पताल में इलाज के दौरान सोमवार को उनकी मौत हो गई.

पुलिस का कहना है कि पहलू खान और उनके चार अन्‍य सहयोगियों ने गाय को खरीदने संबंधी दस्‍तावेज भी पेश किए, इसके बावजूद उनको बुरी तरह पीटा गया. बहरोड़ पुलिस का कहना है कि विश्व हिंदू परिषद और बजरंग दल से जुड़े गोरक्षकों ने शनिवार को राष्‍ट्रीय राजमार्ग-8 के निकट जगुआस क्रॉसिंग पर गाड़ियों को रोका था. 

पहलू खान की अस्पताल में मौत

जयपुर से गायों को लेकर आ रही गाड़ियां हरियाणा के मेवात इलाके के नूह जिले की तरफ जा रही थीं. जब गाडि़यों में सवार लोगों पर हमला किया गया तो हमलवरों ने एक ड्राइवर अर्जुन को जाने दिया.

बुरी तरह जख्मी पांच लोगों को अस्‍पताल में भर्ती कराया गया. उनमें से पहलू खान की अलवर के अस्‍पताल में सोमवार रात को मौत हो गई. इस मामले में 200 से ज्यादा लोगों के खिलाफ हत्या और लूट का मामला दर्ज किया है. 

गृहमंत्री बोले- कड़ी कार्रवाई होगी

राजस्थान के गृह मंत्री गुलाबचंद कटारिया ने गोरक्षा के नाम पर कानून हाथ में लेने वालों को चेतावनी देते हुए कहा है कि बहरोड़ में मारपीट करने वालों के खिलाफ कार्रवाई होगी.

पुलिस ने 200 लोगों के खिलाफ मुकदमा तो दर्ज कर लिया है, लेकिन किसी की गिरफ्तारी नहीं हुई है. गृह मंत्री कटारिया ने कहा कि राज्य में गोहत्या रोकने का कानून बना हुआ है और गोवंश की तस्करी रोकने के लिए कई चौकियां भी बनाई गई हैं, लेकिन गोतस्कर फिर भी बच निकलते हैं.

कटारिया ने साथ ही कहा, "कई गोरक्षक इन्हें रोकने का प्रयास करते हैं, लेकिन उन्हें कानून हाथ में नहीं लेना चाहिए. कानून हाथ में लेना अपराध है. बहरोड़ में मारपीट करने वालों के खिलाफ पुलिस में मुकदमा दर्जं है, जिनके खिलाफ कार्रवाई की जा रही है."

First published: 5 April 2017, 12:27 IST
 
पिछली कहानी
अगली कहानी