Home » राजस्थान » Bhanvari devi case: Indira bishnoi told Bhanwari not killed, she lived in bengaluru
 

'जिंदा है भंवरी, पुलिस को मिली हड्डियां उसकी नहीं'

कैच ब्यूरो | Updated on: 11 June 2017, 10:44 IST

राजस्थान के बहुचर्चित भंवरी देवी हत्याकांड में आरोपी इंद्रा विश्नोई ने दावा किया है कि भंवरी अभी जिंदा है और पुलिस ने जो हड्डियां बरामद की हैं वह उसकी नहीं थीं.

बीते शनिवार को सीबीआई ने इंद्रा को रिमांड अवधि पूरी होने पर जोधपुर स्थित मुख्य न्यायिक मजिस्ट्रेट कोर्ट में पेश किया, जहां से उसे न्यायिक अभिरक्षा में भेजने के आदेश दिए गए.

इस केस में इंद्रा सहित 16 लोग अभी जेल में बंद हैं. मामले की अगली सुनवाई 21 जून को होगी. इंद्रा को जब कोर्ट लाया गया तो पहले वह शांत रही. जब सुनवाई शुरू हुई तो उसने कहा कि 'मुझ पर किसी ने काला जादू किया है. मैं ज्यादा कुछ नहीं बोल सकती.' उसके बाद कोर्ट ने सुनवाई पूरी होने पर इंद्रा को जेल भेजने के लिए कहा.

इस मामले में एफबीआई की एक महिला अफसर 22 जून को जोधपुर कोर्ट में अपना बयान दर्ज कराने आएंगी. सुनवाई के बाद कोर्ट से निकलते समय वहां पहले से मौजूद मीडिया से इंद्रा ने कहा कि भंवरी देवी अभी जिंदा है. इंद्रा कुछ बोलती इससे पहले सुरक्षाकर्मी उसे जबरन वाहन में ले गए.

सीबीआई अधिकारियों का मानना है कि यह बयान देकर इंद्रा जांच की दिशा बदलने की कोशिश करने के साथ खुद को मानसिक रोगी साबित करने का प्रयास कर रही है. इंद्रा के वकीलों ने शुक्रवार को कोर्ट में यही दलील देकर राहत मांगी थी.

गौरतलब है कि जोधपुर की भंवरी देवी वर्ष 2011 के अगस्त माह के अंतिम दिनों में एक दिन अचानक घर से गायब हो गई थी. सीबीआई का दावा है कि भंवरी की अपहरण के बाद हत्या कर दी गई. उसके बाद शव जला कर उसकी राख को राजीव गांधी नहर में बहा दिया गया.

सीबीआई ने नहर से कुछ हड्डियों के अवशेष खोज निकाले थे और दावा किया था कि हड्डियां भंवरी की ही हैं. अमेरिकी जांच एजेंसी एफबीआई के वैज्ञानिकों ने भी इस बात की पुष्टि की थी कि हड्डियां भंवरी की ही हैं. इस मामले में भंवरी के पति ने एक सितंबर 2011 को पुलिस में रिपोर्ट दर्ज कराई थी कि उसकी पत्नी लापता है.

जांच के बाद पुलिस ने तत्कालीन मंत्री महिपाल सिंह मदेरणा और तत्कालीन कांग्रेस विधायक मलखान विश्नोई सहित दो अन्य लोगों को गिरफ्तार किया था. तत्कालीन अशोक गहलोत सरकार ने प्रकरण की जांच सीबीआई को सौंपी थी.

सीबीआई ने मलखान विश्नोई की बहन इंद्रा को मास्टरमाइंड माना था. करीब साढ़े छह वर्ष तक फरार रहने के बाद इंद्रा को मध्य प्रदेश के देवास से पिछले दिनों गिरफ्तार किया था.

First published: 11 June 2017, 10:44 IST
 
पिछली कहानी
अगली कहानी