Home » राजस्थान » bjp leader write a letter to bjp president for remove vasundhara raje from cm of rajasthan
 

राजस्थान: वसुंधरा के खिलाफ चला 'चिट्ठी बम', पार्टी के भीतर से उठी हटाने की मांग

कैच ब्यूरो | Updated on: 6 February 2018, 9:09 IST

हाल में हुए राजस्थान के उपचुनाव में बीजेपी की हार ने सीएम वसुंधरा राजे की मुसीबत बढ़ा दी है. राजस्थान उपचुनाव में हार ने पार्टी के भीतर ही उनके खिलाफ बगावत शुरू हो गई है. भाजपा में ओबीसी सेल के कोटा जिला अध्यक्ष अशोक चौधरी ने पार्टी के राष्ट्रीय अध्यक्ष अमित शाह को पत्र लिखकर प्रदेश सरकार में नेतृत्व बदलने की मांग की है.

मीडिया रिपोर्ट्स के अनुसार, अशोक चौधरी ने अमित शाह के नाम चिट्ठी लिखी है. इस चिट्ठी में अशोक चौधरी ने वसुंधरा राजे और प्रदेश अध्यक्ष अशोक परणामी को हटाने की मांग की है. चौधरी ने मुख्यमंत्री वसुंधरा राजे से इस्तीफे की मांग करते हुए कहा कि भाजपा कार्यकर्ताओं में राज्य नेतृत्व के प्रति असंतोष पैदा होता जा रहा है.

उन्होंने कहा कि पार्टी कार्यकर्ता वसुंधरा राजे के नेतृत्व में काम नहीं करना चाहते हैं, लोगों के मन में पार्टी के प्रति गहरा आक्रोश पैदा होता जा रहा है, लिहाजा वसुंधरा राजे इस्तीफा दे.

 

चिट्टी सामने आने के बाद कोटा के विधायक भवानी सिंह पार्टी नेतृत्व पर सवाल उठाने वाले नेता के खिलाफ कार्रवाई की बात कह रहे हैं. उधर विपक्षी कांग्रेस कह रही है कि बीजेपी को अब राजस्थान में कोई नहीं बचा पाएगा.

दरअसल कुछ दिनों पहले राजस्थान में हुए दो लोकसभा और एक विधानसभा चुनाव में भारतीय जनता पार्टी को कांग्रेस के हाथों मु्ंह की खानी पड़ी थी. अलवर और अजमेर लोकसभा सीट पर बीजेपी उपचुनाव में बुरी तरह हारी थी वहीं मांडलगढ़ विधानसभा सीट भी बीजेपी से कांग्रेस ने छीन ली है. इस रिजल्ट के बाद इसी साल के अंत में होने जा रहा विधानसभा चुनाव भाजपा के लिए खतरे की घंटी माना जा रहा है.

 

गौरतलब है कि राजस्थान भारतीय जनता पार्टी के काफी अहम राज्य है. यहां तक कि पार्टी अध्यक्ष अमित शाह और पीएम मोदी के लिए भी राजस्थान काफी अहम माना जाता है क्योंकि साल 2014 में हुए आम चुनाव में बीजेपी ने यहां की सभी 25 लोकसभा सीटें जीती थीं. लेकिन साढ़े तीन साल के भीतर ही राज्य में बीजेपी के खिलाफ जिस तरह से माहौल तैयार हो रहा है उससे साल 2019 में होने वाले लोकसभा चुनाव के लिए खतरा माना जा रहा है.

इससे पहले भाजपा विधायक घनश्याम तिवाड़ी ने अलवर एवं अजमेर लोकसभा क्षेत्रों एवं मांडलगढ़ विधानसभा सीट पर भाजपा की हार के लिए मुख्यमंत्री को जिम्मेदार ठहराते हुए कहा था कि प्रदेश की जनता चार साल के भ्रष्टाचार के शासन से परेशान हो चुकी है. केन्द्रीय नेतृत्व को मुख्यमंत्री को हटाकर नया नेतृत्व लाना चाहिए.

First published: 6 February 2018, 9:10 IST
 
अगली कहानी